उद्धव ठाकरे का अमित शाह पर पलटवार शिवसेना को हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ

Raipur News - आम चुनाव में गठबंधन न होने की स्थिति में पूर्व सहयोगियों को भी हराने वाले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 02:46 AM IST
Kendri News - chhattisgarh news uddhav thackeray39s untimely defeat to shiv sena was not born
आम चुनाव में गठबंधन न होने की स्थिति में पूर्व सहयोगियों को भी हराने वाले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रविवार को तीखी प्रतिक्रिया दी। ठाकरे ने कहा कि अभी शिवसेना को हराने वाला पैदा नहीं हुआ है।

शाह के बयान की आलोचना करते हुए ठाकरे ने कहा, “मैंने किसी से पटक देंगे जैसे शब्द सुने हैं। शिवसेना को हराने वाला अभी पैदा नहीं हुआ।’

उल्लेखनीय है कि शिवसेना केंद्र और महाराष्ट्र सरकार में भाजपा के साथ है। वर्ली में एक जनसभा में उद्धव ने 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले मोदी लहर पर निशाना साधते हुए कहा, ‘शिवसेना ने अपनी यात्रा में कई लहरें देखी है।’ शाह ने कुछ दिन पहले महाराष्ट्र के लातूर में कहा था कि अगर गठबंधन हुआ तो पार्टी अपने सहयोगियों की जीत सुनिश्चित करेगी, लेकिन यदि ऐसा नहीं हुआ तो पार्टी अपने पूर्व सहयोगियों को हराएगी।

उद्धव ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, आज देश का क्या होगा किसी को उसकी चिंता नहीं। लोगों को सिर्फ चुनाव जीतने की चिंता है। भाजपा में विश्वास की कमी है इसीलिए पीएम मोदी डरे हुए हैं। जनता के मन में आपका विश्वास रहना चाहिए। कोई बोलता है हनुमान मुसलमान थे, कोई दलित... ये क्या चल रहा है।


भाजपा के सहयोगी विरोध कर रहे हैं तो मंदिर का निर्माण कैसे होगा

2019 के चुनाव के बाद का वक्त शिवसेना का होगा

उद्धव ने कहा, 2019 के बाद का वक्त शिवसेना का होगा। चुनाव में कौन जीतेगा, कौन हारेगा यह तो उसी वक्त पता चलेगा। शिवसेना देश के सुधार की दिशा में सोचती है। मुझे मजबूत सरकार चाहिए, सरकार ऐसी चाहिए जो देश को मजबूत कर पाए। मोदी ने कहा था हमारी सरकार मजबूत है, विरोधी मजबूर सरकार बनाने में लगे हैं। इंदिरा गांधी की सरकार मजबूत थी।

उस सरकार ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए थे। अटल जी ने कारगिल की लड़ाई जीत कर दिखाई थी। उनको घेरने की बहुत कोशिश की गई थी।

8 लाख तक की इनकम वालों का टैक्स माफ करके दिखाओ

ठाकरे ने सवाल किया कि क्या 130 करोड़ के देश में कोई नहीं है जो प्रधानमंत्री को टक्कर दे सके। किसी के चुनाव में विकल्प होने का ज़रूरत नहीं है, लोग अपनी नाराजगी खुद बताते हैं। मोदी जी जिन लोगों की 8 लाख रुपए तक इनकम है, उनका इनकम टैक्स माफ करके दिखाओ तो हम मानने को तैयार हैं कि आप का सीना 56 इंच का है।

उद्धव ने कहा कि भाजपा से उलट शिवसेना ने चुनाव से पहले राम मंदिर का मुद्दा उठाया है, ताकि उनका पर्दाफाश किया जा सके, जो हमेशा इसका उपयोग चुनावी मुद्दे के लिए करते हैं। उन्होंने पूछा कि जब नीतीश कुमार के जदयू और रामविलास पासवान की लोजपा जैसे भाजपा के सहयोगी विरोध कर रहे हैं तो मंदिर का निर्माण कैसे होगा। भाजपा को इस पर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

15 लाख खाते में आएंगे और राम मंदिर बनेगा, ये भाजपा के जुमले

ठाकरे ने कहा, 15 लाख रुपए लोगों के खाते में आएंगे और राम मंदिर बनेगा, यह महज भाजपा के जुमले है। जब मैं अयोध्या गया तो लोगों ने कहा कि बाला साहेब का लड़का आया है, ये तो मंदिर बनाकर ही जाएगा। जब भाजपा महज जुमलेबाजी करती है तो उस पर भरोसा कैसे कर सकते हैं। भाजपा कहती है कि जब राम मंदिर मुद्दा आता है तो कांग्रेस इसमें टांग अड़ाती है।

कांग्रेस सिर्फ इसलिए बीच में आती है कि लोगों ने आपको सत्ता देकर दंडित किया। हम मानते हैं कि भाजपा किसी भी तरह से राम मंदिर नहीं बना सकती।

जनता से संवाद कर होगा घोषणापत्र तैयार, भाजपा ने बनाईं 15 समितियां

नई दिल्ली | भाजपा ने लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों को लेकर रविवार को पार्टी मुख्यालय में बैठक की। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पार्टी का घोषणा पत्र बनाने से पहले 15 उप-समितियां बनाने का निर्णय लिया, जो जनता से सीधे संवाद करेंगी। जनता की राय पर लोकसभा चुनाव के लिए अपना संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) तैयार करेगी। राजनाथ ने बताया, पार्टी ने 15 उप-समितियां बनाने का निर्णय लिया है, जो अलग-अलग क्षेत्र में पहुंचकर जनता से सीधे बात करेगी। ये समितियां लोगों से उनकी राय भी जानेगी कि वे भाजपा के मैनिफेस्टो में किन मुद्दों को चाहते हैं। उन्होंने बताया कि अरुण जेटली प्रचार अभियान समिति के आठ सदस्यों का नेतृत्व करेंगे, जबकि नितिन गडकरी सामाजिक स्वयं सहायता समिति के 10 सदस्यों को लीड करेंगे। प्रचार अभियान समिति में पीयूष गोयल, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, अनिल जैन, महेश शर्मा, सतीश उपाध्याय, राजीव चंद्रशेखर और रितुराज सिन्हा हैं।

सामाजिक स्वयं सहायता समिति की टीम में कैलाश विजयवर्गीय, सदानंद गौड़ा, कलराज मिश्र, शिव प्रसाद शुक्ला, विजय सांपला, एसएस अहलुवालिया, बंडारु दत्तात्रेय, आरपी सिंह और मांगे राम हैं। 13 सदस्यों की एक टीम को रविशंकर प्रसाद लीड करेंगे, जो मीडिया कार्यों को देखेगी। जबकि श्याम जाजु सोशल मीडिया कार्यों का ध्यान रखेंगे। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर उस समिति का नेतृत्व करेंगे, जो बुद्धिजीवियों की बैठक आयोजित करेगी। इस समिति में मीनाक्षी लेखी, संबित पात्रा और मुरलीधर राव शामिल हैं।

X
Kendri News - chhattisgarh news uddhav thackeray39s untimely defeat to shiv sena was not born
COMMENT