खमतराई क्राॅसिंग पर अंडरब्रिज का काम बंद, टू-लेन जितने चौड़े बाॅक्स पर लगी जंग

Raipur News - इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर| रायपुर राजधानी के बीचोबीच बेहद व्यस्त बिलासपुर रोड पर ट्रैफिक दबाव से राहत के लिए...

Bhaskar News Network

Jul 13, 2019, 07:35 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news undertridge work on kshmatrai crossover junk on two lane broad box
इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर| रायपुर

राजधानी के बीचोबीच बेहद व्यस्त बिलासपुर रोड पर ट्रैफिक दबाव से राहत के लिए वाल्टेयर क्रासिंग (खमतराई) में बनाया जा रहे अंडरब्रिज का काम पिछले छह महीने से बंद पड़ा है। यह क्रासिंग 24 घंटे में लगभग 60 बार बंद होती है और हर बार वाहनों की लाइन एक ओर फाफाडीह में पीली बिल्डिंग तक और दूसरी ओर खमतराई ओवरब्रिज तक लग रही है। अंडरब्रिज बनाने के लिए खुदाई सालभर पहले की गई थी। इसके बाद टू-लेन साइज के लोहे के दो बड़े बाॅक्स भी डाल दिए गए, लेकिन तब से काम बंद है। छह महीने से बड़े ये बाॅक्स डूब रहे हैं और लोहे में जंग लग रही है।

निर्माण एजेंसी पीडब्ल्यूडी नहीं बता पा रही है कि यह अंडरब्रिज का काम कब शुरू होगा, क्योंकि जिस कंपनी को इसका ठेका मिला था, शहर में उसके लगभग सारे प्रोजेक्ट ठप हैं। इनमें स्काई वाॅक भी शामिल है। वाल्टेयर क्रासिंग शहर में ऐसी अकेली है जिसमें ओवरब्रिज और अंडरब्रिज, दोनों नहीं है। बिलासपुर रोड पर डीअारएम अाॅफिस के सामने का ओवरब्रिज इस क्रासिंग को कवर नहीं करता है। इस रेलवे लाइन पर पिछले दो-तीन साल में ट्रेनें बढ़ी हैं। 10 यात्री गाड़ियों के अलावा दिनभर में यहां से 20 मालगाड़ियां भी गुजरती हैं। इस वजह से क्रासिंग लगभग हर 15 मिनट में बंद हो जाती है। इसका असर पूरे फाफाडीह पर पड़ रहा है। चूंकि यहां ओवरब्रिज का प्लान महंगा पड़ रहा था, इसलिए सालभर पहले पीडब्ल्यूडी ने रेलवे से मिलकर यहां अंडरब्रिज फाइनल किया था। बिलासपुर रोड पर हैवी ट्रैफिक चलता है, इसलिए फोरलेन अंडरब्रिज बनाने का फैसला करते हुए शासन ने 20 करोड़ रुपए की लागत भी मंजूत कर दी थी। अंडरब्रिज बनाने का ठेका जीएस एक्सप्रेस-वे ने लिया था, लेकिन छह माह से इस साइट पर गतिविधियां ही बंद कर दी गई हैं।

वाल्टेयर लाइन पर बढ़ीं ट्रेनें

इस लाइन पर पांच साल पहले तक बमुश्किल अाधा दर्जन ट्रेनें गुजरती थीं और इतनी ही मालगाड़ियां। इस वजह से क्रासिंग से ज्यादा परेशानी नहीं थी। लेकिन पिछले पांच साल में पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों की संख्या ही 10 से ज्यादा हो गई है। दूसरा, मालगाड़ियों की अामदो-रफ्त काफी बढ़ी है। इस वजह से यह क्रासिंग बार-बार बंद रहने लगी है। क्रासिंग बंद रहने से दोनों तरफ के रिहायशी इलाकों की गाड़ियां तो ट्रैफिक में फंसती ही हैं, औद्योगिक क्षेत्र भनपुरी अाने-जाने वाले वाहन भी रुक जाते हैं। इसलिए यहां दिनभर जाम रहने लगा है।

इतना चौड़ा पहला अंडरब्रिज| यह शहर का पहला डबल बॉक्स अंडरब्रिज होगा, जिसकी चौड़ाई हीरापुर, रामनगर या दूसरे अंडरब्रिजों से दोगनी होगी और ऊंचाई भी ज्यादा रहेगी। हैवी ट्रैफिक के कारण प्लान यह बना कि बड़े-बड़े मालवाहन अासानी से गुजर सकें। दूसरा, फाफाडीह से भनपुरी तक काफी ट्रैफिक रहता है और सुबह-शाम जाम के हालात बनते हैं इसलिए इसकी चौड़ाई ज्यादा रखी गई है।

90 हजार वाहन गुजरते हैं रोजाना

ट्रैफिक पुलिस के सर्वे में यह बात सामने अाई कि बिलासपुर रोड पर वाल्टेयर लाइन के अासपास से रोजाना 85 से 90 हजार वाहन गुजर रहे हैं। इनमें मालवाहनों की संख्या भी काफी है। ज्यादा दिक्कत इसलिए है क्योंकि इस क्रासिंग से लगभग डेढ़ किमी दूर स्टेशन के ओर वाल्टेयर लाइन मेन लाइन में मिलती है। इस वजह से इस क्रासिंग से गुजरनेवाली ट्रेनों की रफ्तार कम रहती है। नतीजा, जब भी क्रासिंग बंद होती है, सुबह 9 बजे से रात 10 बजे तक दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग जाती है। ट्रैफिक के पीक टाइम यानी सुबह और शाम को क्रासिंग बंद रहने पर इतना लंबा जाम लगता है कि गंज थाने के सामने फाफाडीह चौक तक इसका असर देखा जाता है।

कंपनी पर करेंगे कार्रवाई


X
Raipur News - chhattisgarh news undertridge work on kshmatrai crossover junk on two lane broad box
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना