--Advertisement--

रुर्बन मिशन में छत्तीसगढ़ को मिला पहला पुरस्कार, लगातार दूसरी बार बना नंबर वन

दिल्ली में 11 सितंबर को आयोजित कार्यक्रम में राज्य का होगा सम्मान

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2018, 12:02 PM IST
प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।

रायपुर। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन के तहत गांवों में होने वाले कामों को लेकर छत्तीसगढ़ को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की गई है। 11 सितंबर को दिल्ली के विज्ञान भवन में अयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ को ये सम्मान दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के गांवों को उनके मूल स्वरूप में रखते हुए ग्रामीणों को शहरियों जैसी बुनियादी सुविधा देने के लिए इस मिशन की शुरुआत की थी। छत्तीसगढ़ ने एक साल के भीतर लगातार दूसरी बार से सम्मान प्राप्त किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने लगभग ढाई साल पहले 21 फरवरी 2016 को इस मिशन का राष्ट्रव्यापी शुभारंभ राज्य के राजनांद गांव के विकासखंड डोंगरगढ़ के नजदीक कुर्रूभाठा में किया था। प्रधानमंत्री के इस मिशन में छत्तीसगढ़ लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। केंद्र सरकार ने करीब 9 महीने पहले 08 दिसंबर 2017 को भुवनेश्वर (ओडिशा) में आयोजित कार्यक्रम में देश के पूर्वी राज्यों में छत्तीसगढ़ को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य के रूप में सम्मानित किया था।

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दी बधाई

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य की इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर खुशी का इजहार किया है। उन्होंने इसके लिए रूर्बन मिशन से संबंधित क्लस्टरों की ग्राम पंचायतों, वहां के ग्रामवासियों, पंच-सरपंचों सहित प्रदेशवासियों को भी बधाई दी है। पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर ने भी इस उपलब्धि पर खुशी प्रकट की है और बधाई दी है।

इसलिए छत्तीसगढ़ को दिया नंबर वन का तमगा

रूर्बन मिशन के सभी 18 क्लस्टरों की 172 ग्राम पंचायतें प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच मुक्त हो चुकी हैं। इसके अलावा प्रथम और द्वितीय चरण के 10 क्लस्टरों में शामिल 116 ग्राम पंचायतों में से 51 ग्राम पंचायतों में ठोस कचरा प्रबंधन का काम भी शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 10 क्लस्टरों में 10 हजार 365 गरीब परिवारों को पक्के मकान स्वीकृत किए जा चुके हैं। इनमें से 9 हजार 412 (लगभग 90.8 प्रतिशत) मकान बनकर तैयार हो गए हैं।

79.8 प्रतिशत महिला हितग्राहियों तक पहुंचा गैस सिलेंडर और चूल्हा

दस क्लस्टरों में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत अब तक 34 हजार 737 गरीब परिवारों में से 27 हजार 703 महिला हितग्राहियों (79.8 प्रतिशत) को रसोई गैस कनेक्शन, डबल बर्नर चूल्हा और पहला भरा हुआ सिलेंडर दिया जा चुका है। युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए चल रही कौशल विकास योजना के तहत दस क्लस्टरों में 8 हजार 983 युवाओं को विभिन्न व्यवसायों के लिए प्रशिक्षित किया जा चुका है। इतना ही नहीं बल्कि 10 क्लस्टरों में सार्वजनिक परिवहन सुविधाओं के साथ नागरिक सेवा केंद्रों की भी शुरूआत हो चुकी है।

X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..