--Advertisement--

मुख्यमंत्री रमन सिंह बोले- कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जनरल नॉलेज कमजोर है, उनका भी स्किल डेवलपमेंट हो

छत्तीसगढ़ में स्किल ऑन व्हील की शुरुआत, केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने कहा- देश का पहला राज्य जहां राइट टू स्किल की शुरुआत

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 04:14 PM IST
मुख्यमंत्री रमन सिंह और केंद् मुख्यमंत्री रमन सिंह और केंद्

रायपुर। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि राहुल गांधी ने मुझे सलाह दी कि भेल (भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड) से मोबाइल लेना चाहिए। इस पर मैंने भेल से पूछा कि अाप मोबाइल भी बनाओगे क्या? रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जनरल नॉलेज इतना कमजोर है। मैं तो केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े से कहूंगा कि उनका भी स्किल डेवलपमेंट करें। रविवार को मेडिकल कॉलेज सभागार में प्रदेश स्किल ऑन व्हील कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर रमन सिंह बोल रहे थे। गौरतलब है कि शुक्रवार को राहुल गांधी ने रायपुर में कहा था कि राज्य सरकार बाहरी कंपनी से मोबाइल खरीदकर प्रदेश को वित्तीय भार दे रही है। इसकी बजाए सरकार को भेल से मोबाइल खरीदना चाहिए। इस बयान के बाद राहुल गांधी को सोशल मीडिया में भी ट्रोल किया गया था।

लाइवलीहुड काॅलेज से प्रदेश के 4 लाख बच्चों को मिला लाभ: मुख्यमंत्री ने कहा कि कौशल उन्नयन के लिए लाइवलीहुड कालेज की स्थापना की है। कौशल उन्नयन से अब तक 4 लाख बच्चों को लाभ मिला, जिसमें से 2 लाख से अधिक बच्चों को जॉब मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि लोग बिहार से आकर छत्तीसगढ़ में पंक्चर बनाते हैं। पुट्टी करने वाले मजदूर राजस्थान से आते हैं, प्लंबर बाहर से आते हैं, इलेक्ट्रिशियन का काम करने वाले बाहर से आते हैं। अब यहीं सबको ट्रेनिंग दी जाएगी। इससे पहले रमन सिंह ने कौशल रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये रथ लोगों में जागरुकता लाने के साथ ही कौशल शिक्षा के प्रचार सभी जिलों में करेगा। कौशल रथ दो चरणों में प्रदेश के सभी जिलों में जाएगा। पहले चरण में 13 जिलों और दूसरे चरण में 14 जिलों को कवर किया जाएगा। इस अभियान के तहत 4 साल में 1 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है।

छत्तीसगढ़ ने देश में बनाया आदर्श: केंद्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री अनंत हेगड़े ने इस मौके पर कहा कि राज्य में स्किल आन व्हील की शुरुआत की जा रही है। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जिसने राइट टू स्किल की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लाइवलीहुड कॉलेज की शुरुआत की और इस वजह से छत्तीसगढ़ का नाम और ऊंचाइयों को छू रहा है। बाकी राज्यों में भी हम छत्तीसगढ़ की इन उपलब्धियों को गिनाते हैं। उन्होंने कहा कि पहले सभी लेबर बेस्ड इकॉनमी ही थी। इंडस्ट्री से लेकर सभी चीजें लेबर बेस्ड ही थीं लेकिन अब हमें नॉलेज बेस्ड इकॉनमी की ओर अग्रसर होना होगा।

कांग्रेस से पूछना चाहता हूं क्या देश धर्मशाला है- रमन सिंह: मुख्यमंत्री रमन सिंह ने एनआरसी मुद्दे पर एक बार फिर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि असम में एक आंदोलन चला। यह आंदोलन वहां की जनता ने चलाया। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में रिपोर्ट प्रस्तुत की गई है। इसमें कहा गया कि बांग्लादेश और अन्य देशों से आए घुसपैठियों को अलग किया जाना चाहिए। आज वहां अनेक समस्या है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस से सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि देश को क्या धर्मशाला बना दोगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी सिर्फ वोट बैंक की राजनीति के लिए देश को किस दिशा में ले जा रहे हैं ये वही जाने। देश के प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि जो लोग गैर कानूनी तरीके से आए हैं उन्हें बाहर जाना ही पड़ेगा।

कंटेंट : राकेश पांडेय

X
मुख्यमंत्री रमन सिंह और केंद्मुख्यमंत्री रमन सिंह और केंद्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..