--Advertisement--

गर्वनर जैसी संस्था पर किसी को कमेंट करने की जरूरत नहीं : सीएम रमन सिंह

जगदलपुर में मुरिया समाज भवन के लोकार्पण के मौके पर बोले सीएम। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने उठाया था राज्यपाल के पद पर सवाल।

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 01:09 PM IST
सीएम रमन सिंह की फाइल फोटो। सीएम रमन सिंह की फाइल फोटो।

जगदलपुर। राज्यपाल के पद की प्रासंगिकता पर सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि इस पद को लेकर किसी को कुछ बोलने की जरूरत नहीं है। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने भास्कर के एक कार्यक्रम ''प्रश्न पूछिए @भास्कर न्यूज रूम'' के तहत राज्यपाल के पद को खत्म करने के बात की थी। सीएम रमन ने जगदलपुर में मुरिया समाज के भवन के लोकार्पण के मौके पर पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में ये बात कही है।

- पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने कहा था कि छत्तीसगढ़ में पिछले वर्षों में कई बड़ी घटनाएं हुईं। राज्यपाल ने अपनी ओर से कभी कोई ठोस पहल नहीं की। आदिवासियों की विलुप्त होती जातियों की नसबंदी जैसा मामला आया पर राज्यपाल खामोश हैं। किसान की दुर्दशा सबके सामने है। झीरम जैसा कांड हो गया। राज्यपाल ने कभी भी अपनी भूमिका का निर्वहन नहीं किया। दरअसल राज्यपाल का पद केवल सुविधाभोगी हो गया है। पूरे देश में यही हाल है। इस पद को समाप्त कर देना ही बेहतर होगा।

साइकिल मिलने से आत्मविश्वास बढ़ता है

- जगदलपुर में मुरिया समाज के भवन के लोकार्पण के मौके पर सीएम ने एक हजार साइकिल का वितरण किया। सीएम ने कहा कि साइकिल मिलने से बेटियों में आत्मविश्वास बढ़ेगा। सीएम ने अपना किस्सा सुनाते हुए कहा कि जब उन्हें पहली बार साइकिल मिली थी तब वे पूरे शहर में उसे लेकर चले और लोगों को बताने की कोशिश करते रहे कि देखो मेरी साइकिल है और मैं इसे चला सकता हूं। सीएम ने 40 सिलाई मशीन सीएम ने 40 सिलाई मशीन का भी वितरण किया।

जल्द ही बदलेगा नगरनार

- नगरनार प्लांट की ओर इशारा करते हुए सीएम ने कहा कि एक वक्त था भिलाई की आबादी महज 800 थी। आज एक पूरा शहर बस चुका है। नगरनार में भी जल्द ही ऐसा नजारा होगा। यहां कई इंडस्ट्री आएंगी। बस्तर बहुत जल्द रेल से कनेक्ट होगा। इसके बाद जगदलपुर से रायपुर की दूरी महज 4 घंटे में तय हो जाएगी।