--Advertisement--

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस-बसपा गठबंधन पर हो सकता फैसला, दिल्ली में हो रही है मीटिंग

कई मंचों पर पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया बसपा के साथ गठबंधन की ओर इशारा कर चुके हैं।

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 12:31 PM IST
राहुल गांधी की फाइल फोटो। राहुल गांधी की फाइल फोटो।

नई दिल्ली। आगामी विधानसभा के लिए चुनावी रणनीति पर शनिवार को दिल्ली में चिंतन शुरू हो गया है। इस बैठक में राजस्थान और एमपी समेत छत्तीसगढ़ के कांग्रेस अध्यक्ष और प्रभारी भाग ले रहे हैं। इस बैठक में क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन को लेकर गुंजाइश पर भी चर्चा चल रही है। कई मंचों पर पीसीसी चीफ भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने बसपा के साथ गठबंधन की ओर इशारा किया था। हालांकि ये भी कहा था कि गठबंधन से जुड़ा कोई भी फैसला आलाकमान करेगा।

- शनिवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक चल रही है। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस बाबत मध्य प्रदेश के प्रभारी दीपक बाबरिया और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, राजस्थान के प्रभारी अविनाश पांडे और छत्तीसगढ़ के प्रभारी पीएल पुनिया और पीसीसी चीफ भूपेश बघेल को दिल्ली बुलाया है। मौजूदा समय में तीनों राज्यों में बीजेपी की सरकारें है। कांग्रेस तीनों राज्यों में सत्ता की वापसी के लिए हरसंभव कोशिश कर रही है।

बसपा से गठबंधन के हो रहे कयास

- छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी पिछले विधानसभा चुनाव में महज एक सीट जीत पाई थी। वहीं दो सीटों पर दूसरे नंबर पर थी। कांग्रेस छत्तीसगढ़ में किसी भी कीमत पर बसपा को अपने साथ रखना चाहती है। पार्टी को डर है कि अगर जोगी और बीएसपी साथ आ गए, तो इसका सीधा फायदा बीजेपी को होगा।