--Advertisement--

वीडियो जारी कर अजीत जोगी ने कहा- पूरी तरह स्वस्थ हूं, कल दंतेवाड़ा जाऊंगा

तबीयत बिगड़ने की खबर वायरल होते ही जोगी खेमा में मचा हड़कंप

Danik Bhaskar | Apr 07, 2018, 04:09 AM IST

रायपुर. सोशल मीडिया में अजीत जोगी की अचानक तबीयत बिगड़ने की खबर जमकर वायरल होते ही पूरे खेमे में हड़कंप मच गया। जेसीसी सुप्रीमो अजीत जोगी इन दिनों बस्तर के दौरे पर हैं। आज उन्होंने पखांजूर में सभा की।पखांजूर में किसान सम्मेलन को संबोधन के बाद उड़ान भरते ही किसी ने उनकी तबियत खराब होने की खबर वायरल कर दी। इसमें कहा गया कि उन्हें इलाज के लिए रायपुर लाया जा रहा है। इस खबर के वायरल होते ही जोगी ने स्वयं इस खबर का खंडन किया है. जोगी ने खुद वीडियो मेसेज जारी कर कहा कि कहा कि वह बीमार नहीं हैं, बिल्कुल स्वस्थ हैं। और ना ही इलाज के लिए रायपुर आ रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि वह अभी जगदलपुर में हैं और कल बीजापुर और दंतेवाड़ा का दौरा पूरा करेंगे।

मिश्रा का आरोप- सूखा राहत के पैसे में ब्याज का खेल
- पूर्व मंत्री विधान मिश्रा ने सूखा राहत के पैसे में बैंकों पर बड़ा आरोप लगाया। मिश्रा, तिलक राम देवांगन ने कहा कि सूखा राहत में ब्याज का खेल चल रहा है। बैंकों ने सूखा राहत राशि के करोड़ों रुपए को दबा कर रखा है। संबंधित बैंक सूखा राहत के करोड़ों रुपए से ब्याज कमा रहे हैं और किसान मुआवजे के लिए भटक रहे हैं।

- लोक सुराज अभियान के दौरान सीएम ने मुरा गांव में कहा था कि क्षेत्र के किसानों को सूखा राहत राशि का शत प्रतिशत भुगतान हो चुका है, लेकिन हकीकत यह है कि तिल्दा ब्लॉक के 7 हजार 871 किसानों को अभी तक मुआवजा नहीं मिला है। साथ ही मुरा गांव के 167 किसानों में से सिर्फ 8 किसानों को ही सूखा राहत का पैसा मिला है।

- मिश्रा ने अपने आरोपों की पुष्टि के लिए मीडिया के सामने सूखा राहत से संबंधित आंकड़े भी पेश किए। उन्होंने कहा कि 2017-18 में सरकार ने जनवरी माह में 609 करोड़ रुपए जारी किए हैं। दो माह बाद भी हजारों किसानों के खाते में अभी तक सूखा राहत की राशि जमा नहीं की गई है। इस पैसे से बैंकों ने अब तक करीब 7 करोड़ का ब्याज कमा लिया है। सीएम के दावे को गलत बताते हुए मिश्रा ने कहा कि