विज्ञापन

पहली बार होगा ऐसा विवाह, दुल्हन बनेंगी 15 ट्रांसजेंडर, बारात लेकर आएगा दूल्हा, हिंदू रीति-रिवाज से होंगे 7 फेरे, CM करेंगे कन्यादान

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 09:04 PM IST

छत्तीसगढ़ न्यूज : रायपुर में 29 से 30 मार्च के बीच 15 ट्रांसजेंडर अपने पुरुष साथी संग परिणय सूत्र में बधेंगी

  • comment

रायपुर (छत्तीसगढ़)। पहली बार ट्रांसजेंडरों का सामूहिक विवाह रायपुर में आयोजित किया जा रहा है। इसमें 15 ट्रांसजेंडर अपने पुरुष साथी के साथ सात फेरे लेकर परिणय सूत्र में बंधेंगी। इस आयोजन की खास बात ये होगी कि इन ट्रांसजेंडरों का कन्यादान खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे। मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य भी इस समारोह में शिरकत करेंगे। आइए जानते हैं पूरा मामला....

हल्दी मेहंदी से लेकर बारात बिदाई और रिेसेप्शन भी

- थर्ड जेंडर वेलफेयर बोर्ड की विद्या राजपूत ने बताया कि सामूहिक विवाह परंपरागत हिंदू रीति-रिवाज से होगा। 29 मार्च को हल्दी और मेहंदी की रस्म होगी। इसके अगले ​दिन 30 मार्च को बारात आएगी।
- 30 मार्च को ही विदाई और रिसेप्शन भी है। सामूहिक विवाह आयोजन की तैयारी चल रही हैं। ये समारोह वीआईपी रोड स्थित एक निजी होटल या फिर शहर की किसी दूसरी होटल में रखा जाएगा।

50 कपल के आए थे आवेदन

- विद्या ने बताया कि इस सामूहिक विवाह में हिस्सा लेने के लिए प्रदेश के अलावा गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और कोलकाता से भी जोड़े आ रहे हैं। 15 जोड़ों में से 6 कपल छत्तीसगढ़ के रायपुर, कोरबा, रायगढ़ और दुर्ग जैसे इलाकों के हैं।
- इस सामूहिक विवाह में हिस्सा लेने के लिए 50 कपल ने आवेदन किया था। इनमें से 15 ऐसे जोड़ों का चयन किया गया है, जिनके दस्तावेज सही पाए गए।
- आयोजन कमेटी की रवीना बरिहा ने कहा कि सामूहिक विवाह लैंगिक समानता की ओर पहला कदम है। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नवविवाहित किन्नरों का कन्यादान करेंगे। इस विवाह को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने का प्रयास होगा।

रिलेशनशिप को नाम देने की पहल, अब अपनी शादी में नाचेंगे

- विद्या राजपूत ने बताया कि यह आयोजन इसलिए हो रहा है, ताकि थर्ड जेंडर भी समाज का हिस्सा बन सकें। साथ ही हमारे समाज के जो लोग रिलेश​नशिप में रह रहे हैं, उनके रिश्ते को एक नाम मिल सके।
- विद्या ने कहा कि मुंबई के चित्रगाही फिल्मस के प्रोड्यूसर इस इवेंट को ऑर्गनाइज कर रहे हैं। अभी तक हम दूसरों की शादियों में ही नाचते और खुशियां मनाते आ रहे हैं। इस आयोजन से हमारे बचपन का सपना पूरा होगा।

X
COMMENT
Astrology
विज्ञापन
विज्ञापन