--Advertisement--

मुंबई-हावड़ा ट्रेन की कपलिंक टूटी, महज 4 डिब्बों के साथ 500 मीटर तक चला गया इंजन

जांजगीर-चांपा में मुंंबई-हावड़ा स्पेशल ट्रेन की कपलिंक टूटी, मौके पर पहुंची टीम ने रिपेयर कर ट्रेन को रवाना कराया।

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 07:44 AM IST
करीब 1 घंटे बाद  कपलिंक रिपेयर कर ट्रेन को रवाना किया गया। करीब 1 घंटे बाद कपलिंक रिपेयर कर ट्रेन को रवाना किया गया।

जांजगीर। वीकली स्पेशल ट्रेन मुंबई-हावड़ा ट्रेन सोमवार को सुबह करीब 10:05 बजे महज 4 डिब्बों के साथ दौड़ती नजर आई। इंजन से काफी दूर पीछे 15-16 बोगियां लुढ़कती आ रही थीं। घटना की सूचना मिलते ही ट्रेन को रोका गया और मौके पर रेलवे की टीम पहुंची। बता चलता कि कपलिंक टूटने से ट्रेन 4 डिब्बों के साथ आगे बढ़ गई थी। कपलिंक रिपेयर कर करीब 11:15 बजे ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया।

- रविवार को मुंबई के शिवाजी टर्मिनल से हावड़ा के लिए रवाना साप्ताहिक ट्रेन सोमवार को सुबह 8 बजे बिलासपुर स्टेशन पहुंची। इस वक्त वो करीब 1 घंटा लेट थी।

- बिलासपुर से 9 बजे वो छूटी। उसे 11 बजे झारसगुड़ा स्टेशन पहुंचना था, लेकिन सारागांव के पास ही सुबह करीब 10:05 बजे ट्रेन की कपलिंक टूट गई।

- इससे 15-16 बोगियां पीछे रह गईं। ट्रेन 4 डिब्बों के साथ आगे बढ़ गई। करीब 500 मीटर दूर पहुंचने के बाद ड्राइवर को तुरंत सूचित किया गया। इधर बाकी के डिब्बे करीब 200 मीटर तक सरकते गए और अपने आप रुक गए।

- इस घटना के चलते यात्रियों में हड़कंप मच गया। सूचना पर रेलवे के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और ट्रेन के इंजन को बैक कराकर कपलिंक जोड़ी गई। इसके बाद करीब 11:15 बजे ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया।

गुस्साए यात्रियों ने रेलवे मुर्दाबाद के नारे लगाए

- इस घटना से यात्रियों में काफी गुस्सा था। वे पटरी पर बैठ गए और रेलवे प्रशासन मुर्दाबाद का नारा लगाने लगे।

- जब कंपलिंक जोड़ा गया तब जाकर माहौल शांत हुआ और ट्रेन रवाना की जा सकी।

सारागांव के पास हुआ हादसा, किसी यात्री को नहीं आई चोट


सारागांव के पास सोमवार की सुबह कपलिंग टूटने से मुंबई-हावड़ा साप्ताहिक सुपरफास्ट ट्रेन दो हिस्सों में बंट गई। ट्रेन मुंबई से हावड़ा जा रही थी। घटना में किसी भी यात्री को चोट नहीं आई, लेकिन नाराज यात्रियों ने स्टेशन पर उतरकर हंगामा करना शुरू कर दिया था।


घटना सारागांव स्टेशन के आउटर में निकलने के दौरान हुई। जब एस-7 और एस-8 का कपलिंग अचानक टूट गया। सुबह लगभग 10:05 में यह घटना हुई। ट्रेन चांपा और बाराद्वार के बीच में सारागांव के आउटर में रुकी थी। कपलिंग टूटने के बाद ट्रेन के गार्ड ने इसकी जानकारी इंजन के ड्राइवर को दी। इसके बाद गाड़ी की रफ्तार धीमी कर लिया गया। रफ्तार धीमी नहीं होने पर कोई बड़ी दुर्घटना घट सकती थी। फिर भी इंजन अपने साथ कुछ डिब्बों को लेकर लगभग 50 मीटर आगे बढ़ गया था। अचानक कोच के अलग होने के कारण कोच में बैठे यात्रियों को भी झटके से मामूली चोंट आई, लेकिन किसी को मेडिकल हेल्प की जरूरत नहीं पड़ी। सूचना मिलते ही रेलवे कर्मियों में हड़कंप मच गया और सारागांव स्टेशन मास्टर, लोको पायलट और सुधारक टीम ने मौके पर पहुंच टूटे हुए कपलिंग को ट्रेन में रखे कपलिंग से रिप्लेस किया गया। इन सब में लगभग 1 घंटे का समय लग गया। सुबह 11 .10 मिनट में ट्रेन को रवाना किया गया। कपलिंग के टूटने का कारण मैकेनिकल बताया जा रहा है। मैकेनिकल फाल्ट के कारण ही कपलिंग टूट सकता है।

लगातार हो रही कपलिंग टूटने की घटना
ट्रेनों के कपलिंग टूटने की घटना आए दिन हो रही है। खासकर बिलासपुर डिवीजन में इस प्रकार के मामले अधिकतर देखने को मिल रहे है। कुछ दिनों पहले ही रायगढ़ स्टेशन पर एक मालगाड़ी का इंजन डिब्बों को छोड़ केलो पुल तक पहुंच गया था। यहां पर अधिक भार के कारण कपलिंग टूटने की बात सामने आई थी। लेकिन यात्री ट्रेनों में डिब्बों का भार सामान्य ही होता है।

गोंडवाना एक्सप्रेस से सवा लाख की चोरी

उधर, नैला से बिलासपुर तक गाेंडवाना एक्सप्रेस में सफर कर रह महिला का जेवर से भरा पर्स हैंडबैग से चोरी हो गया। रिपोर्ट पर जीआरपी ने धारा 379 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है। चोरी के मामले में संदेह के आधार पर मांगारोड़ी गिरोह की चार महिलाओं को जीआरपी ने गिरफ्तार किया है।

गीतांजलि पार्क मंगला निवासी उषा शर्मा पति विजय शर्मा 33 वर्ष शादी समारोह में शामिल होने नैला गई थी। शादी में शामिल होने के बाद वह परिजनों के साथ बिलासपुर आने के लिए सुबह 4.30 बजे नैला रेलवे स्टेशन पहुंची और रायगढ़ से निजामुद्दीन जा रही ट्रेन क्रमांक 12409 गोंडवाना एक्सप्रेस के जनरल डिब्बे में सवार हुई। ट्रेन में काफी भीड़ थी। उषा शर्मा ने हैंडबैग कंधे पर टांगा था। अकलतरा के पास उसने देखा कि उसके हैंड बैग का चेन खुला हुआ है और उसमें रखा छोटा पर्स गायब है। महिला ने शोर मचाया लेकिन उसका पर्स नहीं मिला। बिलासपुर पहुंचकर वह सीधे जीआरपी थाने पहुंची और रिपोर्ट दर्ज कराई।

महिला ने बताया कि चोरी गए छोटे पर्स में 12 ग्राम का सोने का झुमका, 2 तोले का सोने का हार, तीन तोले का सोने का दूसरा हार, नकद तीन हजार रुपए व कुछ अन्य सामन थे चाेरी गए सोेने के जेवरों की कीमत 1 लाख 13 हजार रुपए है। जीआरपी ने धारा 379 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर प्लेटफार्म की सर्चिंग शुरू की। सर्चिंग के दौरान मांगारोड़ी गिरोह की चार महिलाएं पकड़ीं गईं। उन सभी को पकड़कर थाने में पूछताछ की जा रही है। इस गिरोह के सदस्यों ने अकलतरा व नैला के आसपास ही डेरा जमा रखा है। इस तरह की महिलाएं ऐसा चोरी करने में माहिर हैं गिरोह की कई महिलाएं ट्रेन में चोरी करती पहले भी पकड़ी जा चुकी हैं।

मौके पर यात्रियों ने भीड़ लगाकर रेलवे प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। मौके पर यात्रियों ने भीड़ लगाकर रेलवे प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए।
महज 4 बोगियां लेकर इंजन बढ़ गया था आगे। महज 4 बोगियां लेकर इंजन बढ़ गया था आगे।
मुंबई-हावड़ा विशेष गाड़ी में हुआ ये हादसा। मुंबई-हावड़ा विशेष गाड़ी में हुआ ये हादसा।
X
करीब 1 घंटे बाद  कपलिंक रिपेयर कर ट्रेन को रवाना किया गया।करीब 1 घंटे बाद कपलिंक रिपेयर कर ट्रेन को रवाना किया गया।
मौके पर यात्रियों ने भीड़ लगाकर रेलवे प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए।मौके पर यात्रियों ने भीड़ लगाकर रेलवे प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए।
महज 4 बोगियां लेकर इंजन बढ़ गया था आगे।महज 4 बोगियां लेकर इंजन बढ़ गया था आगे।
मुंबई-हावड़ा विशेष गाड़ी में हुआ ये हादसा।मुंबई-हावड़ा विशेष गाड़ी में हुआ ये हादसा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..