• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • गरीबों का नमक 6 महीने नहीं बांटा, जांच के बाद भेंडरवानी दुकान को किया निरस्त
--Advertisement--

गरीबों का नमक 6 महीने नहीं बांटा, जांच के बाद भेंडरवानी दुकान को किया निरस्त

भेंडरवानी राशन दुकान में सेल्समैन द्वारा हितग्राहियों को 6 महीने से राशन का वितरण नहीं किया गया। इसकी शिकायत...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:15 AM IST
भेंडरवानी राशन दुकान में सेल्समैन द्वारा हितग्राहियों को 6 महीने से राशन का वितरण नहीं किया गया। इसकी शिकायत उपसरपंच बुधराम द्वारा टोल फ्री नंबर पर की गई। जिला खाद्य अधिकारी भूपेन्द्र मिश्रा ने शिकायत पर एएफओ गीतिश मिश्रा को जांच के लिए गांव भेजा गया था। खाद्य अधिकारी के अनुसार केसडबरी की तरह नियमित राशन दुकान नहीं खोलने की शिकायत सही मिलने पर भेड़नी दुकान को निलंबित कर मोहभट्ठा में अटैच किया गया है। सप्ताह भर के भीतर विभाग द्वारा 5 दुकानों को निरस्त किया गया है।

राशन वितरण में अनियमितता को लेकर राशन दुकानों को निरस्त करने की कार्रवाई लगातार जारी है। बीते डेढ़ साल में खाद्य विभाग द्वारा 20 दुकानों को निरस्त किया गया है। जिले में 408 राशन दुकान है, इनमें से करीब 70 प्रतिशत दुकानों पर कांग्रेस व भाजपा समर्थक व कार्यकर्ताओं का कब्जा है। वहीं निलंबित दुकानों में ज्यादातर भाजपा समर्थकों की है। जानकारी के अनुसार निलंबित बहिंगा, लोलेसरा, तिरियाभाट, संबलपुर, कामता, केशडबरी, भेड़नी राशन दुकान भाजपा एवं तेंदूभाठा, पद्मी की दुकान कांग्रेस समर्थक द्वारा संचालित की जा रही थी।

7 दिन के भीतर खाद्य विभाग ने पांच राशन दुकानों को किया निरस्त

जांच में उपसरपंच की शिकायत सही मिली

यहां जांच अधिकारी ने शिकायत को सही पाया और सेल्समैन द्वारा ग्रामीणों को नमक का वितरण नही किया जा रहा था। बीपीएल राशन कार्डधारी परिवार को हर महीने एक किलो नमक निशुल्क मिलता है। भेंडरवानी की दुकान को पास में चिल्फी की दुकान से अटैच किया गया है।

वितरण किए जाने की एंट्री नहीं मिली

जांच अधिकारी गीतिश मिश्रा ने बताया कि मामले की जांच के दौरान 12 हितग्राहियों का बयान दर्ज किया गया। जहां सभी ग्रामीणों ने 3-6 महीने से नमक नहीं मिलना बताया। वहीं हितग्राहियों के राशन कार्ड में नमक का वितरण करना नहीं पाया गया।

एसडीएम को भेजा प्रकरण

हर महीने 550 किलो नमक का आवंटन

एएफओ मिश्रा के अनुसार भेंडरवानी की राशन दुकान में 550 से अधिक राशन कार्ड है। विभाग की ओर से हर महीने चावल, शक्कर, कैरोसिन व नमक का आवंटन किया जा रहा है। प्रत्येक कार्ड के हिसाब से हर महीने 550 क्विंटल नमक का आवंटन हो रहा है।

मामले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली आदेश व संबंधित धारा के अंतर्गत प्रकरण बनाकर आगे की कार्रवाई के लिए जिला खाद्य अधिकारी के माध्यम से एसडीएम को भेजा गया है। फैसला आने के बाद दुकान नए समूह को देंगे।

बेमेतरा.राशन दुकानों में इस तरह से नमक डंप किया है।

कालाबाजारी करने का लगाया आरोप

ग्रामीण मोहन वर्मा, संजय यादव ने बताया कि सेल्समैन से जानकारी मांगने पर विभाग से आवंटन नहीं मिलने का हवाला देकर लौटा देता था। यहां हितग्राहियों को 6 महीने से नमक का आबंटन नहीं किया गया। गरीबों के नमक की कालाबाजारी की गई।

पहले भी की गई है कार्रवाई

केस 1. कामता व संबलपुर संचालक पर भाजपा नेता का संरक्षण, विकास यात्रा के पहले कार्रवाई: राशन वितरण में अनियमितता व नियमित दुकान नहीं खोलने की शिकायत पर नवागढ़ विधानसभा के ग्राम संबलपुर व कामता की राशन दुकान को निरस्त कर दिया गया है। दोनोंं राशन दुकान का संचालन क्षेत्र के बड़े भाजपा नेता के रिश्तेदार द्वारा किया जा रहा था, जो खाद्य अधिकारियों को अपनी पहुंच दिखाकर, कार्रवाई नहीं होने दे रहा। 28 मई को विकास यात्रा से पहले फजीहत से बचने अधिकारियों ने दोनो दुकानों को निरस्त करने की कार्रवाई की है।

केस 2. खाद्य विभाग की एफआईआर की अनुशंसा को उच्च अधिकारी ने किया दरकिनार: बेरला सांकरा में मृतकों के नाम पर राशन आहरण व अनियमितता को लेकर डेढ़ साल पहले दुकान को निरस्त करने की कार्रवाई की गई थी। दुकान का संचालन भाजपा भिंभौरी मंडल अध्यक्ष होलू राम साहू द्वारा किया जा रहा था। यहां जिले के भाजपा नेताओं के संरक्षण के कारण खाद्य विभाग की एफआईआर की अनुशंसा को उच्च अधिकारियों ने दरकिनार कर दिया।

वितरण में अनियमितता बर्दाश्त नहीं