• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • 40 जगहों पर लग रहे जीपीएस ई-बॉयो टॉयलेट, यूजर्स और पानी की जानकारी मोबाइल पर
--Advertisement--

40 जगहों पर लग रहे जीपीएस ई-बॉयो टॉयलेट, यूजर्स और पानी की जानकारी मोबाइल पर

राजधानी के सबसे व्यस्त और बाजार एरिया से जुड़े सड़कों पर जीपीएस सिस्टम से लैस 40 ई-टॉयलेट लगाए जा रहे हैं। टॉयलेट का...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:30 AM IST
राजधानी के सबसे व्यस्त और बाजार एरिया से जुड़े सड़कों पर जीपीएस सिस्टम से लैस 40 ई-टॉयलेट लगाए जा रहे हैं। टॉयलेट का उपयोग कितने लोगों ने किया और पानी खत्म होने वाला है, ये सारी जानकारी मोबाइल पर ही मिल जाएगी। सबसे बड़ी बात यह है कि मेल-फीमेल के साथ ही दिव्यांगों के लिए अलग-अलग टॉयलेट लगाए जा रहे हैं। यहां फीमेल को 5 रुपए में सेनेटरी नैपकिन भी मिलेगी। जेल रोड अंबेडकर अस्पताल के सामने ई-टॉयलेट का काम किया जा रहा है। अगले 2-3 दिन में इसका पूरा सेटअप तैयार हो जाएगा। प्रदेश में इस तरह के ई-टॉयलेट का यह पहला सेटअप है।

राजधानी के बाजार क्षेत्र और व्यस्त सड़कों के किनारे सुविधा घर न होने से लोगों को काफी परेशान होना पड़ता है। अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में अगले कुछ दिनों में राजधानी के अलग-अलग जगहों पर 40 ई-टॉयलेट लगाए जाएंगे। सभी जीपीएस सिस्टम से लैस होंगे। एक जगह पर 3-4 मेल, 2 लेडीज और एक दिव्यांग टॉयलेट लगेंगे। पहले चरण में जेल रोड, जयस्तंभ चौक रवि भवन के पास, कटोरा तालाब बाजार रोड और गौरव पथ के पास लगाए जाएंगे। अंबेडकर अस्पताल गेट के पास 7 ई-टॉयलेट लग रहे हैं। इनमें से 4 मेल, 2 फीमेल और 1 दिव्यांगों के लिए है।


स्टील का सेटअप, दिखने में सुंदर भी

केरल की इराम साइंटिफिक कंपनी के जिथिन जोस ने बताया कि जीपीएस सिस्टम से रोजाना टॉयलेट यूजर्स की जानकारी मिलेगी। टॉयलेट स्टील के बने हैं, जो सुंदर दिखाई देते हैं। सभी में पानी टंकी अटैच होगी। इसके अलावा 3 हजार लीटर का पानी टंकी भी रखा जाएगा।

हर दिन होगी सफाई और इंजीनियर करेंगे मुआयना

प्रदेश में यह अपनी तरह का पहला जीपीएस कॉन्सेप्ट वाला ई-टॉयलेट है। इससे पहले कंपनी ने एनएमडीसी की तरफ से दंतेवाड़ा और रायपुरा के एक स्कूल में ई-टॉयलेट लगाया है। शहर में लगाए जा रहे इन टॉयलेट की रोज सफाई होगी। इसके साथ ही कंपनी के इंजीनियर रोज मुआयना करेंगे। एक ई-टॉयलेट की लागत साढ़े 6 लाख रुपए है।

अन्य रोड-मार्केट स्पेस में लगाएंगे