Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» 40 ने दिया था ट्रायल, 20 चुने, प्रैक्टिस के लिए 5 आए, नहीं बन पाई 18 की टीम

40 ने दिया था ट्रायल, 20 चुने, प्रैक्टिस के लिए 5 आए, नहीं बन पाई 18 की टीम

छत्तीसगढ़ फुटबाल एसोसिएशन कोरबा में सब जूनियर बालक स्टेट फुटबाल स्पर्धा करा रहा है। हर साल होने वाले इस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 14, 2018, 02:40 AM IST

छत्तीसगढ़ फुटबाल एसोसिएशन कोरबा में सब जूनियर बालक स्टेट फुटबाल स्पर्धा करा रहा है। हर साल होने वाले इस टूर्नामेंट में बस्तर की टीम भाग लेने के लिए जाती थी। इस बार स्पर्धा में बस्तर की हिस्सेदारी नहीं हुई है। जिला फुटबाल संघ की टीम ने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का हिस्सा बनने में रूचि नहीं दिखाई है। अंडर 16 के 40 लड़के चयन के ट्रायल मे शामिल हुए थे। इनमें से 20 खिलाडिय़ों का चयन फुटबाल संघ की 5 सदस्यों की टीम ने किया था। लड़कों को प्रेक्टिस के लिए बुलाया तो केवल पांच ही आए। 18 खिलाड़ियों की टीम तक तैयार नहीं हो पाई। जिला फुटबाल संघ ने भी बाकी खिलाड़ियों को बुलाने के लिए प्रयास नहीं किए। इस कारण बस्तर की टीम कोरबा में खेलने नहीं जा पाई। डीएफए के सेक्रेटरी अरविंद लाल ने बताया कि 25दिन पहले ही चयन के लिए ट्रायल कराया गया था। 18 खिलाडिय़ों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए चयन भी किया। तैयारी की गई थी लेकिन खिलाडिय़ों ने रूचि नहीं दिखाई। इस कारण टीम नहीं जा सकी।

ओपन स्पर्धा,जरूरी नहीं है कि स्कूली बच्चे ही जाएं टीम में: कोरबा में चल रही है राज्य स्तरीय फुटबाल प्रतियोगिता अंडर 16के खिलाडिय़ों की है। इसमें खिलाडिय़ों के चयन के लिए डीएफए के सचिव ने शहर की कुछ स्कूलों तक ही प्रयास किए। प्राचार्य को पत्र लिखकर फुटबाल खेलने वालों को भेजने के लिए कहा था।

चयन के लिए खिलाड़ी आए भी पर प्रेक्टिस के लिए नहीं आए। इसके बाद कोई प्रयास नहीं किए। इस स्पर्धा में स्कूली विद्यार्थियों का होना जरूरी नहीं था। 16 साल तक के गैर स्कूली किशोर भी इस स्पर्धा में भाग ले सकते थे। गैर स्कूली खिलाड़ियों को बुलाने के प्रयास फुटबाल संघ ने प्रयास नहीं किए।

अंडर 19 का सलेक्शन होगा 19-20 जुलाई को सिटी ग्राउंड में

जिला फुटबाल संघ के पदाधिकारियों ने अंडर 19 की टीम का चयन करने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। 19 और 20 जुलाई को सिटी ग्राउंड में इन खिलाडिय़ों का ट्रायल देखा जाएगा। चयनकर्ताओं के द्वारा चुना जाएगा। चयन के बाद फुटबॉलर्स को नियमित रूप से अभ्यास कराया जाएगा। उन्हें खास तौर पर यह सिखाया जाएगा कि मैदान पर किस स्थिति में कब कैसे खेलना है। इस दौरान आपस में उनके मैच भी कराए जाने हैं। अंतिम रूप से फिर 18खिलाडिय़ों का चयन होगा जिन्हें कोच,मैनेजर के साथ अगस्त में राज्य स्तरीय मुकाबलों के लिए भेजा जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×