Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» वार्डब्वॉय से करा रहे बाबूगिरी, स्टाफ व मरीजों को उठानी पड़ रही है परेशानी

वार्डब्वॉय से करा रहे बाबूगिरी, स्टाफ व मरीजों को उठानी पड़ रही है परेशानी

मेडिकल कॉलेज में तैनात तीस वार्डब्वॉय को प्रबंधन ने बाबूगिरी, ड्राइवरी और चायपानी के काम पर लगा रखा है। इनको अपने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:45 AM IST

मेडिकल कॉलेज में तैनात तीस वार्डब्वॉय को प्रबंधन ने बाबूगिरी, ड्राइवरी और चायपानी के काम पर लगा रखा है। इनको अपने मूल काम पर नहीं लौटाया जा रहा है। वार्डों में वार्डब्वॉय की कमी के चलते जहां मेकॉज में तैनात स्टाफ को ही परेशानी उठानी पड़ रही है वहीं मरीजों के परिजनों और यहां तैनात गार्ड भी परेशान हैं। दरअसल हास्पिटल में इलाज के लिए आने से लेकर भर्ती होने के बाद तक मरीजों को उठाने वाला कोई नहीं रहता। ऐसे में या तो मरीजों के परिजनों को या फिर गार्डों को मरीजोंं को उठाना पड़ता है। गौरतलब है कि भास्कर ने दो दिनों पहले ही बाबूगिरी करने वाले सभी वार्डब्वॉय के नाम प्रकाशित कर बताया था कि कैसे मरीजों को परेशानी में डालकर इनसे दीगर काम करवाए जा रहे हैं।

6 मरीजों की ओपीडी दो वार्डब्वॉय : मेकॉज में वार्डब्वॉय की कमी का अंदाजा इस बात से लगाया जा रहा है कि बाह्य रोग ओपीडी में हर रोज करीब 600मरीज आते हैं। इन मरीजों की सेवा के लिए यहां सिर्फ दो वार्डब्वॉय तैनात किए हैं। कुछ दिनों पहले तक यहां तीन वार्डब्वॉय तैनात थे लेकिन अचानक ही एक वार्ड की ड्यूटी आपातकाल ओपीडी में लगा दी गई। ऐसे में अब यह मरीजों की सेवा के लिए सिर्फ दो वार्डब्वॉय ही बच रहे हैं। उधर से 30 से ज्यादा वार्डब्वॉय बाबूगिरी का काम कर रहे हैं।

स्टाफ की कमी होने से एडजस्ट कर रहे

स्टाफ की भारी कमी है। अभी मौजूद स्टाफ को ही एडजस्ट कर काम करवाया जा रहा है। हास्पिटल पहुंचने वाले किसी मरीज को परेशानी न हो, इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। डॉ. अविनाश मेश्राम, हास्पिटल अधीक्षक

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×