--Advertisement--

बुद्ध पूर्णिमा : पंचशील के सिद्धांतों का पालन करने का लिया संकल्प

बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर गौतम बुद्ध की जयंती हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। नगर के वेलुवन में सोमवार को हुए गोष्ठी...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:55 AM IST
बुद्ध पूर्णिमा : पंचशील के सिद्धांतों का पालन करने का लिया संकल्प
बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर गौतम बुद्ध की जयंती हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। नगर के वेलुवन में सोमवार को हुए गोष्ठी में उनके उपदेशों पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में पहुंचे विशिष्ट अतिथि भंते ज्ञानबोधि ने कहा कि आज दुनिया बुद्ध की राह पर है। यही एक मात्र ऐसे युगदृष्टा हुए जो हमें जीवन की समृद्धि सम्यक दिशा दिखाते हैं।

लोग उनकी शिक्षाओं का अनुकरण करते हैं। उन्होंने कहा कि बुद्ध पूर्णिमा को हम त्रिविध पूर्णिमा के नाम से मनाते हैं। इसका मतलब इस दिन बुद्ध के जीवन की तीन महत्वपूर्ण घटनाएं घटी थीं। पहला बुद्ध का जन्म, दूसरा ज्ञान की प्राप्ति, तीसरा महापरिनिर्वाण। उनके उपदेशों में समता, स्वतंत्रता, बंधुत्व के अलावा क्षमाशील और प्रज्ञा का विशेष स्थान है। बोधि ने कहा कि महात्मा बुद्ध जी का जन्म, ज्ञान प्राप्ति और महापरिनिर्वाण ये तीनों एक ही दिन अर्थात वैशाख पूर्णिमा के दिन ही हुए थे। हिंदू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध भगवान विष्णु के नौवें अवतार हैं, इसलिए हिंदुओं के लिए भी यह दिन पवित्र माना जाता है।

कार्यक्रम के दौरान सामाजिक भवन का उद्घाटन भी किया गया। जिसमें बौद्ध समाज के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। कार्यक्रम का समापन भंडारे के साथ हुआ।

धूमधाम से मनाई गई बुद्ध पूर्णिमा, प्रार्थना कर किया याद और लिया संकल्प

कार्यक्रम में पंचशील के सिद्धांतों को अपनाने की शपथ लेती महिलाएं।

पंचशील के सिद्धांतों पर चलने का लिया संकल्प

कार्यक्रम में बोधि ने लोगों को बुद्ध के पंचशील सिद्धांतों और चार आर्य सत्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि बुद्ध के चार आर्य हैं। जिसमें पहला संसार में दुख है, दूसरा दुख का कारण तीव्र इच्छा है, तीसरा दुख का समुदाय है और चौथा दुखों से बचने के उपाय के बारे में बताया। इसके बाद उन्होंने लोगों को पंचशील सिद्धांताें की शपथ दिलवाई ।

X
बुद्ध पूर्णिमा : पंचशील के सिद्धांतों का पालन करने का लिया संकल्प
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..