--Advertisement--

छह दशक पुराना सरस्वती हाईस्कूल बंद

छह दशक पुराने तथा शहर के पहले हाईस्कूलों में शुमार सरस्वती स्कूल को बंद कर दिया गया है। यहां के शिक्षकों को दूसरे...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:50 AM IST
छह दशक पुराने तथा शहर के पहले हाईस्कूलों में शुमार सरस्वती स्कूल को बंद कर दिया गया है। यहां के शिक्षकों को दूसरे स्कूलों में भेज दिया गया। लगातार गिरती छात्र संख्या के चलते स्कूल में दाखिला लेने छात्र ही नहीं मिल रहे थे। लिहाजा प्रशासन ने इसे बंद करने का फैसला पिछले साल ही ले लिया था।

इस साल स्कूल में एक भी दाखिला नहीं लिया गया और इसे बंद कर उसके शिक्षकों का दूसरे स्कूलों में तबादला कर दिया गया। केवल चौकीदार ही इस स्कूल में बचा है, जो देखरेख कर रहा है। वर्ष 1960 में स्थानीय नगरपालिका द्वारा स्थापित सरस्वती हाईस्कूल पहले पालिका द्वारा ही नियंत्रित हो रहा था जिसे काफी साल बाद शासनाधीन करते हुए इसे शासकीय स्कूल बना दिया गया था।

स्कूल में बीते दशक में छात्र संख्या में लगातार गिरावट होती रही। बंद होने से बचाने के लिए इस स्कूल से पढ़ कर निकले पूर्व छात्रों ने भी अपनी ओर से भरसक कोशिशें की लेकिन यहां छात्र संख्या दो अंक तक भी नहीं पहुंच रही थी। लिहाजा वर्ष 2016 में शिक्षा विभाग ने इसे बंद करने का निर्णय लेते हुए शासन को पत्र लिखा था। इस साल से सरस्वती हाईस्कूल का वजूद की खत्म हो गया। अब स्कूल के भवन का प्रशासन द्वारा क्या इस्तेमाल किया जाता है, इसका निर्णय होना अभी बाकी है।

खरियार रोड. सरस्वती हाईस्कूल का भवन।