--Advertisement--

खुद में दोष दिखने लगे तो समझें आप पर परमात्मा की कृपा हो गई

जैनाचार्य श्रीमद् विजय कीर्तिचंद्र सूरीश्वर महाराज शुक्रवार को भैरव सोसाइटी से विहार करते हुए सदर बाजार स्थित...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:10 AM IST
जैनाचार्य श्रीमद् विजय कीर्तिचंद्र सूरीश्वर महाराज शुक्रवार को भैरव सोसाइटी से विहार करते हुए सदर बाजार स्थित ऋषभ देव जैन मंदिर पहुंचे। यहां प्रवचन सभा में उन्होंने ज्ञान योग, क्रिया योग और भक्ति योग की व्याख्या की। उन्होंने कहा कि हम कैसे जानेंगे कि परमात्मा की कृपा हो गई। उन्होंने कहा कि इसका सबसे सरल प्रमाण है कि जब आपको लगता है कि मैं गलत समझा था। मैंने गलत किया और मैं अभी तक गलत कर रहा था, तब समझना की ज्ञान आ गया है। यही ज्ञान योग है जब व्यक्ति को दूसरे के दोष की जगह स्वयं के दोष दिखाई देने लगते हैं। यही परमात्मा की कृपा की निशानी है। प्रवचन में सुपारस गोलेच्छा, सुरेश काकरिया, जैन कुमार बैद, सीए पुखराज मुणोत,महावीर तालेड़ा, खेमराज बैद,विजय काकरिया, उज्ज्वल झाबक, अभय भंसाली, राजेन्द्र गोलेच्छा(हेमू) मनीष बैद, मयूर बैद, धनराज बैद आदि उपस्थित थे।

ऋषभ देव जैन मंदिर में आचार्य विजय ने कहा-

आचार्यश्री का मंगल

प्रवेश जुलूस आज

श्री जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक समाज एवं चातुर्मास आयोजन समिति के चंद्रप्रकाश ललवानी ने बताया कि आचार्यश्री समेत सभी साधु-साध्वी शनिवार की सुबह भव्य जुलूस के साथ चातुर्मास के लिए मंगल प्रवेश करेंगे। प्रवेश जुलूस सदर बाजार जैन मंदिर से सुबह 7.30 बजे शुरू होगा, जो कोतवाली चौक, कालीबाड़ी , बैरनबाजार होते हुए विवेकानंद नगर स्थित श्री संभवनाथ मंदिर पहुंचेगा।