• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान
--Advertisement--

रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान

प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर रजिस्ट्री कराने पहुंचने वाले लोगों की मुश्किलें खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही...

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2018, 03:15 AM IST
रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर

रजिस्ट्री कराने पहुंचने वाले लोगों की मुश्किलें खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। पहले दस्तावेजों और ऑनलाइन रिकार्ड अपडेट नहीं होने की वजह से लोगों को वापस किया जा रहा था। अभी दो दिनों से मुख्य सर्वर खराब होने की वजह से रजिस्ट्री नहीं हो पा रही है। रजिस्ट्री का सिस्टम ऑनलाइन होने के बाद लोगों की परेशानी कम होने के बजाय हर दिन बढ़ रही है। इधर लोग परेशान हो रहे थे और दूसरी और कलेक्टर के साथ बैठक कर रहे पंजीयन दफ्तर के अफसर कहते रहे सब ठीक है और रजिस्ट्री पहले से ज्यादा हो रही है।

रजिस्ट्री दफ्तर में गुरुवार को किसी की भी रजिस्ट्री नहीं हुई। ई-स्टांप लॉक नहीं होने की वजह से रजिस्ट्री का काम शुरू ही नहीं हो सका। यही स्थिति बुधवार को भी थी। विभाग के अफसरों का कहना है कि रजिस्ट्री का मुख्य सर्वर चिप्स और एनआईसी से ऑपरेट होता है, इसलिए इस पर हम कुछ नहीं कर सकते। रजिस्ट्री नहीं होने पर लोगों ने हंगामा भी किया, लेकिन सभी अफसरों ने हमारे हाथ में कुछ नहीं है कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया। सुबह से पहुंचे लोग धीरे-धीरे वापस होते रहे। दो दिन से सर्वर खराब होने के बावजूद उसमें आई तकनीकी खराबी को अभी तक ठीक नहीं किया जा सका है। फिलहाल यह तय नहीं है कि शुक्रवार को भी रजिस्ट्री हो पाएगी या नहीं, क्योंकि सर्वर में आई तकनीकी खराबी को अभी तक सुधारा नहीं जा सका है।

रजिस्ट्री के लिए इंतजार

लोग परेशान होते रहे और अफसर कहते रहे- सब ठीक है

सर्वर में खराबी की वजह से लोग परेशान हो रहे हैं। दो दिनों से रजिस्ट्री भी बंद है, लेकिन गुरुवार को रजिस्ट्री विभाग के अफसरों ने कलेक्टर के साथ बैठक कर कहा कि सब ठीक है। लोग परेशान होकर वापस होते रहे और अफसर बैठक में कहते रहे कि रजिस्ट्री को लेकर कोई परेशानी नहीं है। आबादी जमीन, नजूल और डायवर्टेड प्लॉट की रजिस्ट्री को लेकर कलेक्टर ओपी चौधरी के ऑफिस में महानिरीक्षक पंजीयन कार्तिकेय गोयल, संचालक भू-अभिलेख रमेश शर्मा, अपर कलेक्टर कदीर अहमद खान, सिटी एसडीएम संदीप अग्रवाल और जिला पंजीयक बीएस नायक की बैठक हुई। इसमें अफसरों ने कलेक्टर को बताया कि रजिस्ट्री में किसी भी तरह की रोक नहीं लगाई गई है बल्कि सभी दस्तावेजों को मांगा जा रहा है। इस दौरान बैठक में किसी ने भी सर्वर खराब होने का जिक्र तक नहीं किया। उन्होंने नियमों का हवाला देकर कहा कि रजिस्ट्रीकरण नियम 1939 के नियम 19 (ण) और 19(त) में जमीन की पहचान के लिए बी-1, खसरा, भू-खंड का उल्लेख करना अनिवार्य है। पहले यह मैन्यूअल होता था, लेकिन अब ऑनलाइन हो रहा है। इससे रजिस्ट्री में तेजी आई है। पिछले साल के मुकाबले में अभी तक 12 फीसदी ज्यादा रजिस्ट्री हुई है।

मैन्यूअल स्टांप खरीदने की देते रहे सलाह

दो दिन से रजिस्ट्री नहीं होने से नाराज लोगों ने मुख्य पंजीयक बीएस नायक का घेराव किया। नाराज लोगों की समस्या का समाधान करने के बजाय उन्होंने लोगों से ई-स्टांप की जगह मैन्यूअल स्टांप खरीदने की सलाह दे दी। उन्होंने लोगों से कहा कि ई-स्टांप लॉक नहीं हो रहा है, इसलिए वे मैन्यूअल स्टांप खरीदकर रजिस्ट्री कराएं। इस पर लोगों ने उन्हें बताया कि उन्होंने पहले ही ई-स्टांप खरीद रखा है। ऐसे में वे स्टांप को वापस करते हैं तो मूल राशि की 10 फीसदी रकम कट जाएगी और वापसी की रकम भी 15 से 30 दिनों में मिलेगी। इसलिए वे मैन्यूअल स्टांप में रजिस्ट्री नहीं करा सकते हैं। इस पर उन्होंने लोगों से कहा कि वे इस मामले में कुछ नहीं कर सकते।



सभी को सर्वर ठीक होने तक इंतजार करना होगा।

रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान
X
रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान
रजिस्ट्री का सर्वर दो दिनों से खराब, अफसरों का एक ही जवाब, हम क्या करें? सैकड़ों परेशान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..