--Advertisement--

साहित्यकार तेजिंदर गगन नहीं रहे

रायपुर| मशहूर साहित्यकार तेजिंदर गगन का बुधवार रात ह्दय गति रुक जाने से निधन हो गया। तेजिंदर गगन दोपहर को रायपुर...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 03:15 AM IST
रायपुर| मशहूर साहित्यकार तेजिंदर गगन का बुधवार रात ह्दय गति रुक जाने से निधन हो गया। तेजिंदर गगन दोपहर को रायपुर के मौलश्री विहार स्थित एक विवाह समारोह में सम्मिलित हुए थे। उसके बाद वे सामान्य ढंग से घर आ गए। देर रात अटैक आने पर पड़ोस के एक चिकित्सक ने उनकी देख-रेख की लेकिन अतः उनकी सांसे थम गई। वह मेरा चेहरा, काला पादरी, सीढियों पर चीता, हेलो सुजित ( सभी उपन्यास) कहानी संग्रह घोड़ा बादल और काव्य संग्रह बच्चे अलाव ताप रहे हैं के लेखक थे। तेजिंदर गगन दूरदर्शन में बतौर निदेशक कार्यरत रहे और सेवानिवृत्त हुए। 67 वर्षीय गगन अपने पीछे प|ी दलजीत गगन, पुत्री समीरा को छोड़ गए। देश के अनेक साहित्यकारों ने उनके निधन को अपूरणीय क्षति माना है। उनका अंतिम संस्कार गुरुवार को मारवाड़ी श्मशानघाट में किया गया।