--Advertisement--

बारिश से जलस्तर बढ़ा लेकिन महादेव घाट में कोई सुरक्षा नहीं

रायपुर | शुक्रवार को हुई बारिश में खारुन का जल स्तर और बढ़ गया है। नदी उफान पर आने लगी है। पानी एनीकट से तीन फीट ऊपर चल...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:15 AM IST
रायपुर | शुक्रवार को हुई बारिश में खारुन का जल स्तर और बढ़ गया है। नदी उफान पर आने लगी है। पानी एनीकट से तीन फीट ऊपर चल रहा है। इसके साथ ही सैलानियों की संख्या भी बढ़ने लगी है। भाठागांव एनीकट में भी रोज युवकों की टोली पिकनिक मनाने पहुंच रहे हैं। वहां ऊंचाई से छलांग लगाकर नहा रहे है। यही नाजारा पत्रकारिता विश्वविद्यालय के सामने काठाडीह एनीकट में हैं, जहां शराबखोरी हो रही है। इसके बाद भी वहां पर सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए है। जबकि जिला प्रशासन और पुलिस ने दावा किया था, वहां पर आपदा प्रबंधन की टीम और पुलिस के जवान तैनात रहेंगे। स्थानीय गोताखोरों को भी वहां लगाया जाएगा, ताकि इमरजेंसी के समय उनकी सेवा ली जा सके। जिम्मेदारी एजेंसियों के सहयोग से वहां चेतावनी वाले बोर्ड लगाने का भी आश्वासन दिया गया था, लेकिन यह भी सिर्फ कागजों में सिमट कर रह गया है। वहां किसी तरह की सुरक्षा नहीं बढ़ाई गई है, जबकि सावन मेला लगने वाला है। इस दौरान महादेव घाट में सबसे ज्यादा भीड़ रहती है। दूर-दूर से लोग जल चढ़ाने आते है।



वहां पर स्नान किया जाता है। खारुन के एनीकट शराबखोरी और नशा खोरी का अड्डा बन गए है। शहर के युवक वहां पार्टी करने जाते हैं। यहां पर नाबालिगों को भी जमावड़ा लगा रहता है। जबकि यहां पर कई बार हादसे हो चुके है। नदी में डूबने से नाबालिगों की जान जा चुकी है। हर बार हादसे के बाद ही प्रशासन अलर्ट होता है। उसके बाद सुरक्षा इंतजाम किया जाता है, जबकि पहले से ही इसकी व्यवस्था करनी चाहिए।

पेट्रोलिंग भी नहीं होती

पुलिस की पेट्रोलिंग टीम भी एनीकट की जांच करने नहीं जाते। मेनरोड से ही घूमकर लौट जाती है। अगर पुलिस रोज वहां जांच करें तो युवकों को वहां जमावड़ा नहीं रहेगा। वहां पर नशाखोरी नहीं होगी।