--Advertisement--

बीमा कंपनी ने स्मार्ट कार्ड से इलाज के रोके 25 करोड़

रायपुर| हेल्थ स्मार्ट कार्ड का भुगतान करने वाली बीमा कंपनी ने अंबेडकर अस्पताल समेत निजी अस्पतालों के इलाज का 25...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:15 AM IST
रायपुर| हेल्थ स्मार्ट कार्ड का भुगतान करने वाली बीमा कंपनी ने अंबेडकर अस्पताल समेत निजी अस्पतालों के इलाज का 25 करोड़ रोक दिया है। बीमा कंपनी ने अप्रैल से अब तक कोई भुगतान नहीं किया है। जबकि एग्रीमेंट के अनुसार अस्पतालों को हर महीने इलाज का भुगतान करना है। ऐसा नहीं करने पर बीमा कंपनी ब्याज भी देगी। लेकिन बीमा कंपनी ने आज तक अस्पतालों को ब्याज नहीं दिया। स्वास्थ्य विभाग भी बीमा कंपनी पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं करता। आईएमए के अध्यक्ष डॉ. महेश सिन्हा का कहना है कि बीमा कंपनी क्लेम का नियमित भुगतान नहीं कर एग्रीमेंट का उल्लंघन कर रहा है। जल्द ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से मुलाकात कर इस संबंध में शिकायत की जाएगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना व मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अंबेडकर अस्पताल का चार करोड़ से ज्यादा बकाया है।

जिला अस्पतालों का भी यही हाल है। बड़े निजी अस्पतालों में दो से ढाई करोड़ रुपए का भुगतान नहीं हुआ है। वहीं छोटे व मंझले अस्पतालों का 20 से 25 लाख बकाया है। इससे मरीजों के इलाज में परेशानी हो रही है। अंबेडकर अस्पताल में ऑपरेशन के लिए जरूरी इंप्लांट व उपकरण लोकल पर्चेस किया जाता है। यह एक एजेंसी से सप्लाई होती है। अंबेडकर प्रबंधन ने एजेंसी को लंबे समय से भुगतान नहीं किया है, इसलिए वह जरूरी सामान सप्लाई करने में आनाकानी करने लगा है। हालांकि अधिकारियों ने एजेंसी को भरोसा दिलाया है कि बकाया भुगतान जल्द कर दिया जाएगा। आईएमए का कहना है कि बीमा कंपनी क्लेम का भुगतान नियमित रूप से नहीं कर रही है। जबकि इस संबंध में पहले भी कई बार स्वास्थ्य विभाग व बीमा कंपनी के अधिकारियों के बीच बात हुई है। बीमा कंपनी हर बार नियमित भुगतान का दावा करती है, लेकिन नुकसान का रोना रोकर भुगतान से पीछे हट जाती है।