• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • शॉपिंग साइट पर सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह फंसा, एफआईआर दर्ज
--Advertisement--

शॉपिंग साइट पर सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह फंसा, एफआईआर दर्ज

News - रायपुर| ओएलएक्स में सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह राजधानी पुलिस के शिकंजे में फंस गया है। गिरोह के कुछ...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 03:15 AM IST
शॉपिंग साइट पर सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह फंसा, एफआईआर दर्ज
रायपुर| ओएलएक्स में सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह राजधानी पुलिस के शिकंजे में फंस गया है। गिरोह के कुछ सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनसे ठगी और चोरी के 11 से ज्यादा केस का खुलासा हुआ है, जिसकी पुलिस में शिकायत नहीं हुई।

गिरोह के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने खमतराई और मौदहापारा थाने में केस दर्ज किया है, जल्द ही इस मामले का खुलासा किया जाएगा। पुलिस के मुताबिक पंडरी के भानुप्रताप को अपना लैपटॉप बेचना था। उसने लैपटॉप का फोटो खींचकर ओएलएक्स में अपलोड कर दिया। उसने लैपटॉप की 25 हजार कीमत तय की थी। ओएलएक्स में लैपटॉप देखकर एक युवक ने उससे संपर्क किया। लैपटॉप लेकर अंबेडकर अस्पताल कैंपस बुलाया।

जहां उसने लैपटॉप चालू करके देखा। 21 हजार में सौदा तय हुआ है। उसने अलग से हार्डडिस्क मांगी। प्रार्थी ने हार्डडिस्क बाइक में रखी थी। जैसे ही वह लाने गया, आरोपी लैपटॉप लेकर फरार हो गया है। उसने आसपास तलाश भी की, लेकिन आरोपी नहीं मिला। देवभोग के टीकमचंद बघेल से ठगी हुई है।

मोबाइल का सौदा, नकली कार्ड देकर आरोपी फरार

खमतराई में एक युवक मोबाइल का ऑनलाइन सौदा करने के बाद जालसाजी का शिकार हो गया। आरोपी ने ओएलएक्स में उसके साथ मोबाइल का सौदा किया। सौदा तय होने के बाद उसे एटीएम के पास बुलाया और मोबाइल हाथ में लेने के बाद फर्जी कार्ड थमा दिया। मोबाइल लेकर भाग निकला। पांच दिन पहले भी इसी तरह की घटना माना के युवक के साथ हुई थी। पुलिस के केस दर्ज कर लिया है। दोनों ही घटना में एक ही आरोपी है। खमतराई पुलिस के मुताबिक संजय नगर का अर्जुन डावटलानी (19) का कारोबार है। उसने अपना मोबाइल बेचना था। उसने मोबाइल की फोटो खींचकर ओएलएक्स में डाल दिया। 15 हजार मोबाइल की कीमत रखी थी। हैंडसेट भनपुरी के एक युवक को पसंद आ गया। उसने 14 हजार में सौदा तय किया। उसने मोबाइल लेकर भनपुरी बुलाया। जहां अर्जुन से उसने मोबाइल ले लिया। उसने कहा कि एटीएम से पैसे निकालने होंगे। उसने अर्जुन को एक कार्ड दिया और कहा कि एटीएम से पैसे निकाल लो। चार अंक का नंबर भी बताया। अर्जुन कार्ड लेकर एटीएम में घुसा। वह कार्ड स्वाइप कर रहा था कि आरोपी मोबाइल लेकर भाग निकला। अर्जुन ने तीन बार कार्ड स्वाइप किया, फिर बाहर आया। आरोपी वहां से गायब था। आरोपी ने जो कार्ड दिया था, वह एक कंपनी का था। वह एटीएम नहीं था। पुलिस के अनुसार इसी तरह की घटना माना के शुभम शर्मा के साथ हुई है। उसे भी इसी तरह से झांसे देकर बुलाया गया था। आरोपी मोबाइल लेकर फरार हो गया। पुलिस के अनुसार दोनों मामले के आरोपी एक ही है। आरोपी वहां लगे कैमरे के फुटेज खंगाल रही है।

X
शॉपिंग साइट पर सामान पसंद करके ठगी करने वाला गिरोह फंसा, एफआईआर दर्ज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..