• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • जमीन के सभी दस्तावेज देंगे ऑनलाइन, मैन्युअल रिकार्ड देने का काम किया बंद
--Advertisement--

जमीन के सभी दस्तावेज देंगे ऑनलाइन, मैन्युअल रिकार्ड देने का काम किया बंद

जमीन और मकान की रजिस्ट्री के लिए अब हर दस्तावेज ऑनलाइन उपलब्ध कराए जाएंगे। लोगों को किसी भी तरह के रिकार्ड के लिए...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:20 AM IST
जमीन और मकान की रजिस्ट्री के लिए अब हर दस्तावेज ऑनलाइन उपलब्ध कराए जाएंगे। लोगों को किसी भी तरह के रिकार्ड के लिए राजस्व निरीक्षकों या पटवारियों के चक्कर नहीं काटना पड़ेगा। रजिस्ट्री के दौरान भी अब जमीन के पंजीयन के लिए पटवारी के हाथ से लिखा हुए नकल के बजाय कंप्यूटरीकृत नकल की कॉपी स्वीकार की जाएगी। इसके लिए भुईंया वेबसाइट को पूरी तरह से अपडेट किया जा रहा है। रजिस्ट्री कराने के दौरान हो रही लोगों की परेशानियों को दूर करने कलेक्टर ने शुक्रवार को जिले के सभी राजस्व अफसरों की क्लास लगाकर कई नए निर्देश दिए। कलेक्टोरेट परिसर में स्थित रेडक्रास सभाकक्ष में आयोजित बैठक की शुरुआत में कलेक्टर ओपी चौधरी ने अफसरों से कहा कि कृषि जमीन, भवन, भूखंड आदि के बी-1, पांचसाला, खसरा सभी रिकार्ड ऑनलाइन होने चाहिए। जिस जमीन की बिक्री की जा रही है उसके खसरों और रकबों को भुईंया सॉफ्टवेयर में तत्काल अपलोड होने चाहिए। इससे लोगों को रजिस्ट्री कराने में कोई परेशानी नहीं होगी। इस काम में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। जिस आरआई और पटवारी के क्षेत्र में यह रिकार्ड अपडेट नहीं होंगे उन पर कार्रवाई की जाएगी।

12 जुलाई को प्रकाशित खबर।

दो दिन की खराबी के बाद सुधरा सर्वर, होने लगी रजिस्ट्री

ऑनलाइन रिकार्ड जरूर चेक करें

राजस्व अफसरों ने लोगों से अपील की है कि वे किसी भी जमीन की खरीदी-बिक्री से पहले उसके रिकार्ड ऑनलाइन जरूर चेक करें। इससे रजिस्ट्री के दौरान होने वाली सभी तरह की परेशानियां खत्म हो जाएंगी। रजिस्ट्रीकरण नियम 1939 के तहत जमीन की पहचान के लिए बी-1, खसरा, भू-खंड का उल्लेख किया जाना अनिवार्य है। इसके साथ ही सभी जमीन के कुल रकबे में से कितने रकबे की रजिस्ट्री हो रही है इसका स्पष्ट उल्लेख एवं चिन्हांकन होना अनिवार्य है। पहले यह दस्तावेज मैन्युअली दिए जाते थे, लेकिन अब ऑनलाइन रिकार्ड ही मान्य हैं।

2 दिनों के बाद ठीक हुआ रजिस्ट्री सर्वर

राजधानी के रजिस्ट्री दफ्तर में दो दिनों से खराब सर्वर को शुक्रवार को ठीक कर लिया गया। दैनिक भास्कर ने लोगों की इस परेशानी की खबर प्रमुखता के साथ प्रकाशित की थी। इसके बाद ही तकनीकी अफसरों ने सुबह 11 बजे से पहले तकनीकी खराबी को ठीक किया और लोगों को रजिस्ट्री के लिए टोकन बांटे गए। लगातार दो दिनों से रजिस्ट्री बंद होने की वजह से लोगों की भीड़ जमा रही। जिन लोगों को टोकन मिले शाम बजे के बाद भी उनकी रजिस्ट्री की गई।