• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • एक घर, एक पेड़ के लिए एक महीने में बनेगा कानून, नहीं लगाने पर जुर्माना भी
--Advertisement--

एक घर, एक पेड़ के लिए एक महीने में बनेगा कानून, नहीं लगाने पर जुर्माना भी

प्रदेश में पहली बार रायपुर जिले में एक घर-एक पेड़ लगाने के लिए नया कानून बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस कानून...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 03:20 AM IST
प्रदेश में पहली बार रायपुर जिले में एक घर-एक पेड़ लगाने के लिए नया कानून बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस कानून में पेड़ नहीं लगाने पर जुर्माना लगाने का प्रावधान भी रखा जा सकता है। कलेक्टर ने इसके लिए प्रमुख सचिव, नगरीय प्रशासन विभाग के सचिव समेत सभी जिम्मेदार सरकारी विभागों को चिट्ठी लिख दी है। विभागों ने नया कानून बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार करने का काम भी शुरू कर दिया है। सब कुछ ठीक रहा तो एक महीने में इस कानून के लिए अधिसूचना भी जारी कर दी जाएगी।

नया कानून बनने के साथ ही केवल शहर में ही नहीं बल्कि जिले में किसी भी तरह का निर्माण होने के साथ घरों में एक पेड़ लगाना अनिवार्य हो जाएगा। पेड़ नहीं लगाने वाले लोगों से जुर्माना भी वसूल किया जा सकता है। इस काम की मॉनिटरिंग जिला प्रशासन, नगर निगम, वन विभाग और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के अफसर करेंगे। विभागों के अफसरों की टीम इसके लिए आकस्मिक जांच करेगी। वो कभी भी किसी भी समय घरों और नए निर्माणों पर जाकर पेड़ लगे या नहीं इसकी जांच करेंगे।

भास्कर सरोकार

इस कानून की जरूरत क्यों

रायपुर के पहले मास्टर प्लान-1976 में घोषित ग्रीनलैंड खत्म होने के बाद प्रशासन ने शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए नया कानून बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है। जिनके पास जगह है, वे वहां पेड़ लगाएंगे और जिनके पास नहीं है, वे स्थानीय एजेंसियों द्वारा निर्धारित स्थानों पर पौधरोपण करेंगे। प्रशासन का मानना है कि पहले मास्टर प्लान में छोड़े गए ग्रीनलैंड की जगह पर राज्य बनने से पहले ही कॉलोनियां तथा रिहायशी-कामर्शियल कांप्लेक्स बन चुके हैं। इसलिए अब वहां कोई कार्रवाई नहीं हो सकती है। इसलिए कानून बनाकर नए और पुराने सभी जगहों पर पेड़ लगाकर ग्रीनरी बढ़ाई जा सकती है।

छह फीट वाले पेड़ लगाएंगे

एक पेड़ के कानून में इस नियम का खास ध्यान रखा जाएगा कि पाम, यूक्लिप्टस या दूसरे सजावटी पेड़ नहीं लगाए जाएंगे। लोगों को अपने घरों और जहां निर्माण हो रहे हैं वहां नीम, बरगद, आम, अमरूद, पीपल और मुनगे जैसे पेड़ लगाने होंगे। प्रशासन की ओर से इसके लिए हर व्यक्ति को एक पेड़ उपलब्ध कराया जाएगा।

यह पेड़ 6 से 10 फीट का रहेगा, ताकि लगाने के बाद मुरझाए नहीं। घरों में लगने वाले पेड़ों की देखरेख का जिम्मा घरवालों के साथ ही प्रशासन के अफसरों की भी होगी।

25 लाख पौधे लगेंगे

जिले में इस बार 25 लाख से ज्यादा नए पौधे लगाने का लक्ष्य तय किया गया है। इनमें से 10 लाख पौधे केवल मुनगे के होंगे। मुनगे के अलावा पीपल, नीम और आम के पेड़ लगाए जाएंगे। अभी जिला प्रशासन और जिला पंचायत की ओर से आयोजित सभी कार्यक्रमों और शिविरों में एक लाख से ज्यादा पौधों का निशुल्क वितरण किया जा चुका है।



यह काम लगातार जारी रहेगा, ताकि मानसून के दौरान ही पौधे बंटने के साथ उन्हें लगाने का काम पूरा हो जाए।

प्रस्ताव अच्छा


अधिसूचना जारी