Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» नकुल देव की याद में 100 को सतनाम अनमोल रत्न अवार्ड

नकुल देव की याद में 100 को सतनाम अनमोल रत्न अवार्ड

रायपुर| गुरु घासीदास आस्था मंच की ओर से सोमवार को गांधी मैदान स्थित रंग मंदिर में साहित्यिक संगोष्ठी और सम्मान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:20 AM IST

रायपुर| गुरु घासीदास आस्था मंच की ओर से सोमवार को गांधी मैदान स्थित रंग मंदिर में साहित्यिक संगोष्ठी और सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. शिव कुमार डहरिया थे। अध्यक्षता डॉ. जेआर सोनी ने की। उनके अलावा भूषण लाल जांगड़े, पुनीत राम खुंटे, विधायक नवीन मारकंडेय, पूर्व विधायक दाऊराम र|ाकर, डॉ. पुनीत बाल किशोर, केपी खंडे आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

कार्यक्रम में समाज के 100 प्रतिभाशाली और समाजहित में काम करने वालों को सम्मानित किया गया। इस मौके पर डॉ. डहरिया ने कहा कि देश, धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए नकुल देव ढ़ीढ़ी का बलिदान प्रदेश के इतिहास में अविस्मरणीय रहेगा। देश और समाज को एकता के सूत्र में जोड़ा। उथल-पुथल के दौर में उन्होंने सतनामी समाज को एक नई दिशा दी। मंत्री रहते हुए उन्होंने समाज को उपदेश भर नहीं दिए, बल्कि अपनी 100 एकड़ जमीन भी दान कर दी। 18 दिसंबर को गुरु घासीदास दिवस मनाने की परंपरा भी उन्होंने ही शुरू की। सन् 1935 में गिरौदपुरी मेला शुरू करवाया। 1938 में अपने गांव भोरिंग में पहली बार गुरु घासीदास जयंती मनाई। 1941 में ब्रिटिश कालीन जन गणना में सतनामी समाज का स्पष्ट उल्लेख भी उन्होंने ही करवाया। इसके साथ 1942 में वे सामाजिक उत्थान के लिए भारत छोड़ो राष्ट्रीय आंदोलन में भी सक्रिय रहे। 1972 को पृथक छत्तीसगढ़ की मांग को लेकर रायपुर सेंट्रल जेल भी गए। उन्होंने जिंदगीभर गुरु घासीदास के अमृत संदेशों हिंसा मत करो, नशा मत करो, मांस भक्षण बंद करो और मूर्ति मत करो का पालन किया। जात-पात के झमेले से दूर रहकर उन्होंने समाज को एक सूत्र में पिरोने सफेद झंडे के नीचे जैतखाम की स्थापना की। कार्यक्रम में गुरु घासीदास आस्था मंच के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र टोडर, प्रकाश बांधे, हितेश ओगरे, भोजा कोसरे, धनेश्वरी डांडे, भंजन जांगड़े, मिलन रंगीला, डॉ. कैलाश आडिल, संतोष डहरिया आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×