Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» तेज गर्मी वाला अप्रैल आराम से आधा बीता, गर्मी अब भी 40 से कम

तेज गर्मी वाला अप्रैल आराम से आधा बीता, गर्मी अब भी 40 से कम

मौसम के लिहाज से इस साल राजधानी में अप्रैल महीने का पहला पखवाड़ा यानी 1 से 15 अप्रैल तक के दो हफ्ते आराम से बीते हैं,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:25 AM IST

तेज गर्मी वाला अप्रैल आराम से आधा बीता, गर्मी अब भी 40 से कम
मौसम के लिहाज से इस साल राजधानी में अप्रैल महीने का पहला पखवाड़ा यानी 1 से 15 अप्रैल तक के दो हफ्ते आराम से बीते हैं, जबकि बीते वर्षों में राजधानी में इन 15 दिनों में ही तापमान 43 डिग्री के आसपास पहुंचता रहा है। इस लिहाज से पिछले 15 दिन में गर्मी 40 डिग्री से कम ही रही है।

5 अप्रैल से अब तक के 10 दिन में तो तापमान 38 डिग्री या नीचे रिकार्ड किया गया। घने बादल और इन 10 दिनों में करीब 40 मिमी (4 सेमी) बारिश से मौसम सुहाना गुजरा है। मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि इसके असर से अगले तीन-चार दिन यानी शुक्रवार तक गर्मी कम ही रहेगी। राजधानी में अप्रैल को तेज गर्मी का महीना माना जाता है। इस दौरान तापमान 43 डिग्री तक पहुंचता है। लेकिन इस बार हालात बिलकुल उलट हैं और अब तक गर्मी महसूस ही नहीं हुई है। दरअसल 5 अप्रैल से राजधानी में बिगड़ा मौसम अब तक सामान्य नहीं हुआ है। तेज हवा के साथ लगातार दोपहर या शाम को बारिश के कारण अगले दिन तक नमी रहने लगी है। आसमान में बादल भी 50 फीसदी से अधिक है। इसलिए गर्मी लगभग नहीं के बराबर है। एक दिन तापमान में वृद्धि होती है तो नमी की वजह से दोपहर बाद स्थानीय प्रभाव से गहरे बादल घिर रहे हैं और बारिश हो रही है। इससे अगले दिन का तापमान भी कम हो रहा है।

ऐसा ही मौसम आज-कल भी : मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मध्यप्रदेश के आसपास बना सिस्टम अब कमजोर हो रहा है। हालांकि इसके असर से थोड़ी-बहुत नमी बुधवार तक आती रहेगी। इसलिए हल्के बाद नजर आएंगे। मंगलवार या बुधवार की शाम तेज हवा के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं। इसकी वजह ये है कि अब भी हवा में 40 फीसदी से ज्यादा नमी है। इस वजह से दोपहर के बाद स्थानीय तौर पर कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। इसी से बौछारें संभव हैं।

राजधानी में 43 डिग्री तक रहता है 1 से 15 अप्रैल का तापमान, पिछले 10 दिन बादलों और बूंदाबांदी में निकले

इतना गर्म रहता है अप्रैल

साल तापमान तारीख

2017 44.2 20

2016 44.0 22

2015 42.0 21

2014 42.7 28

2013 42.3 29

2012 42.1 19

2011 40.0 3

2010 44.2 19

2009 45.0 30

2008 43.1 30

दो दिन बाद बढ़ेगी गर्मी : मौसम विज्ञानियों ने बताया कि अब आसपास कोई सिस्टम बनने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। मध्यप्रदेश का सिस्टम कमजोर होते ही नमी आना बंद हो जाएगी। मंगलवार को आसमान दोपहर के बाद तक साफ रहने की संभावना है। इसलिए दोपहर की धूप से मौसम गरमा सकता है और उमस से बेचैनी हो सकती है। गुरुवार से दोपहर में गर्मी बढ़ने की संभावना है। यही स्थिति बस्तर के कुछ हिस्से को छोड़कर पूरे प्रदेश में रहनेवाली है।

पहली बार लगातार 10 दिन बादल

लालपुर मौसम केंद्र के निदेशक डा. प्रकाश खरे ने कहा कि अप्रैल में बदली-बारिश का इतना लंबा स्पैल पहले कभी नहीं रहा है। अधिकतम दो-तीन दिन बाद मौसम खुलता है और गर्मी बढ़ जाती है। इस साल 5 अप्रैल के बाद से अब तक लगातार बादल हैं। क्योंकि प्रदेश के दक्षिण और उत्तर, दोनों ही ओर एक के बाद एक सिस्टम बन रहे हैं। उनके असर से यहां काफी नमी (बादल) आ रही है। यही वजह है कि राजधानी ही नहीं, प्रदेश के लगभग सभी हिस्से में अगर दोपहर में तेज धूप निकल रही है तो शाम तक घने बादल आ रहे हैं और बारिश हो रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×