• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • सफाई में छत्तीसगढ़ देश में तीसरा बेस्ट परफाॅर्मिंग स्टेट, इनोवेशन में अंबिकापुर को पहला स्थान, फीडबैक में नरहरपुर श्रेष्ठ, इंदौर देश का सबसे साफ शहर
--Advertisement--

सफाई में छत्तीसगढ़ देश में तीसरा बेस्ट परफाॅर्मिंग स्टेट, इनोवेशन में अंबिकापुर को पहला स्थान, फीडबैक में नरहरपुर श्रेष्ठ, इंदौर देश का सबसे साफ शहर

News - भास्कर न्यूज | रायपुर/ अंबिकापुर स्वच्छ सर्वेंक्षण 2018 में छत्तीसगढ़ सफाई के मामले में देश का तीसरा बेस्ट...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 03:25 AM IST
सफाई में छत्तीसगढ़ देश में तीसरा बेस्ट परफाॅर्मिंग स्टेट, इनोवेशन में अंबिकापुर को पहला स्थान, फीडबैक में नरहरपुर श्रेष्ठ, इंदौर देश का सबसे साफ शहर
भास्कर न्यूज | रायपुर/ अंबिकापुर

स्वच्छ सर्वेंक्षण 2018 में छत्तीसगढ़ सफाई के मामले में देश का तीसरा बेस्ट परफार्मिंग स्टेट बन गया है। प्रदेश ने यह उपलब्धि पहली बार हासिल की है। प्रदेश ही नहीं, यहां के छोटे शहरों ने भी सफाई के मामले में ऊंची छलांग लगाई है। अंबिकापुर को छोटे शहरों की सूची में सफाई में बेस्ट इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिसेज में देश में पहला स्थान मिला है। कांकेर जिले से छोटे से कस्बे नरहरपुर ने बेस्ट सिटीजन फीडबैक में देशभर के कस्बों में अपनी जगह बनाकर पड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने बुधवार को स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 के नतीजों का ऐलान किया है। उन्होंने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए देश के 4203 शहरों को शामिल किया गया था। इसमें आबादी के अनुसार शहरों की रैंकिंग की गई है। स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत जितने तरह की चुनातियां रखी गई थी, उन चुनौतियों के अनुसार भी शहरों की रैंकिंग की गई है। इसके मुताबिक देश के सबसे साफ-सुथरे तीन शहरों में क्रमश: इंदौर, भोपाल आैर चंडीगढ़ शामिल हैं। इन शहरों में स्वच्छता के सभी मापदंडों को बेहतर तरीके से अपनाते हुए इसका पालन किया गया था।

कई राज्यों को पीछे छोड़ा

छत्तीसगढ़ ने देश के 29 राज्यों के मुकाबले काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। उसने पूरे देश में बेस्ट परफार्मिंग स्टेट की श्रेणी में तीसरा स्थान हासिल किया है। सबसे खास बात यह है कि छत्तीसगढ़ ने मध्यप्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, केरल, पंजाब जैसे राज्यों को पछाड़कर तीसरा स्थान हासिल किया है। इसमें झारखंड पहले नंबर पर आैर महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर रहा।

अंबिकापुर पहला शहर, जहां कचरा बिकता भी है

स्वच्छता अभियान अभियान के तहत इनोवेशन के लिए अंबिकापुर को पूरे देश में पहला स्थान मिला है। यह प्रदेश का पहला ऐसा शहर है जिसने डंपिंग ग्राउंड को खत्म कर उसे स्वच्छता पार्क में बदल दिया। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन सभी वार्डों में चल रहा है और इस अभियान में लगभग 400 महिलाएं लगी हैं। हर चार वार्डों के बीच एक एसएलआरएम सेंटर बना है, जहां डोर टू डोर कलेक्शन के कचरे की छंटाई की जाती है। कचरे से खाद बनाने के अलावा अन्य उपयोगी कचरे की बिक्री भी की जाती है।



अभियान को जारी रखने और सफल बनाने के लिए प्रशासन व नगर निगम ने काफी कवायद की। सड़क पर कचरा आने से रोकने के लिए निगम ने सख्त कदम उठाए। हालांकि अभी भी कई वार्डों में लोग सड़कों पर कचरा फेंकते हैं, लेकिन जुर्माना व अन्य कार्रवाइयों से इस पर रोक लग रही है। जहां कचरा फेंका जाता था, उन जगहों पर रंगोली बनवाने जैसे कदम उठाए गए। जनवरी में जब स्वच्छता सर्वे टीम आई तो उसने इन प्रयासों को सराहा।

स्वच्छता में भोपाल दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे नंबर पर झारखंड सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाला राज्य बना


एजेंसी|नई दिल्ली

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर एक बार फिर देश का सबसे साफ-सुथरा शहर बनकर उभरा है। इंदौर ने लगातार दूसरे साल यह रुतबा हासिल किया है। इसमें भोपाल दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे नंबर पर है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में झारखंड को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला राज्य चुना गया। इसके बाद महाराष्ट्र तथा छत्तीसगढ़ का स्थान रहा। आवास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार शाम स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 के नतीजे घोषित किए। इसका मकसद देश भर के शहरों में स्वच्छता के स्तर का आकलन करना है। पुरी ने कहा कि सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले शहरों के नाम पुरस्कार वितरण के दिन किए जाएंगे। स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 के तहत देश के सभी 4,200 शहरों में सफाई की स्थिति का आकलन किया गया। सर्वेक्षण 4 जनवरी से शुरू किया गया था। पिछले साल इसमें सिर्फ 434 बड़े शहरों को शामिल किया गया था, जबकि 2016 में सिर्फ 73 शहर शामिल थे। 2014 से स्वच्छ भारत अभियान के तहत शुरू किया गया यह तीसरा सर्वेक्षण है। अभियान की जमीनी हकीकत जानने के लिए ही हर साल स्वच्छता सर्वेक्षण किया जाता है।

देश के सबसे साफ-सुथरे शहर

1. इंदौर | 2. भोपाल | 3. चंडीगढ़

10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों की स्थिति












राजधानियों में ग्रेटर मुंबई ने मारी बाजी- अलग-अलग मामलों में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की राजधानियों का भी आकलन किया गया है। इसमें महाराष्ट्र की राजधानी ग्रेटर मुंंबई देश की सबसे साफ-सुथरी राजधानी बनकर उभरी है। सिटीजन फीडबैक में झारखंड की राजधानी रांची अव्वल रही है। झारखंड ने सफाई के मामले में काफी सुधार किया है। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के मामले मेंं तेलंगाना की राजधानी ग्रेटर हैदराबाद अव्वल रही है।

- सबसे साफ-सुथरी राजधानी- ग्रेटर मुंबई, महाराष्ट्र

- फास्टेस्ट मूवर स्टेट कैपिटल- जयपुर, राजस्थान

- बेस्ट स्टेट कैपिटल इन सिटीजन फीडबैक- रांची, झारखंड

- बेस्ट स्टेट कैपिटल इन इनोवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिसेज- पणजी, गोवा

- बेस्ट स्टेट कैपिटल इन सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट- ग्रेटर हैदराबाद, तेलंगाना

X
सफाई में छत्तीसगढ़ देश में तीसरा बेस्ट परफाॅर्मिंग स्टेट, इनोवेशन में अंबिकापुर को पहला स्थान, फीडबैक में नरहरपुर श्रेष्ठ, इंदौर देश का सबसे साफ शहर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..