Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» बसें कहीं भी रुकने से जाम, अब खड़ी होंगी बस बॉक्स में ही

बसें कहीं भी रुकने से जाम, अब खड़ी होंगी बस बॉक्स में ही

राजधानी की सभी प्रमुख तथा बेहद व्यस्त सड़कों पर बसों की बेतरतीबी दूर करने के लिए अब ऐसी सड़कों पर बस बॉक्स बनाए...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:35 AM IST

बसें कहीं भी रुकने से जाम, अब खड़ी होंगी बस बॉक्स में ही
राजधानी की सभी प्रमुख तथा बेहद व्यस्त सड़कों पर बसों की बेतरतीबी दूर करने के लिए अब ऐसी सड़कों पर बस बॉक्स बनाए जाएंगे, जहां बस स्टॉप नहीं हैं। घने शहर यानी शास्त्री चौक से लगी चार में से तीन महत्वपूर्ण सड़कों पर इक्का-दुक्का बस स्टॉप हैं, क्योंकि वहां इनकी जगह ही नहीं है। इस वजह से शास्त्री चौक से आजाद चौक तक, इसी चौराहे से फाफाडीह-स्टेशन और यहीं से मोतीबाग होकर महिला थाना चौक तक एकाध बस स्टॉप ही हैं। इसलिए ज्यादा बस बॉक्स यहीं बनेंगे और बस उन्हीं पर खड़ी की जाएंगी। इसके लिए नगर निगम रोड सेफ्टी और ट्रैफिक के एक्सपर्ट की मदद ले रहा है। ट्रैफिक सिस्टम में व्यापक बदलाव के लिए कंटेंट और नक्शा भी तैयार किया जा रहा है।

दरअसल, बीते पांच साल गाड़ियां तेजी से बढ़ीं लेकिन ट्रैफिक का सिस्टम ही नहीं बन पाया। इस वजह से शहर में ट्रैफिक बुरी तरह बेतरतीब है। बसों-सिटी बसों की वजह से अव्यवस्था इसलिए बहुत ज्यादा है, क्योंकि ये सड़क ज्यादा घेर रही हैं। ट्रैफिक की इस बड़ी दिक्कत को भास्कर ने प्रमुखता से उठाया, तब इन सड़कों के लिए बसों के ठहरने का सिस्टम बनाने पर मंथन हुआ। यह बस बॉक्स बनाने के रूप में फाइनल हो गया है। ऐसी सड़कों पर सारी बसें इन्हीं बॉक्स में खड़ी हुआ करेंगी। इससे मुसाफिरों को भी बसों से चढ़ने और उतरने में सुविधा होगी।

फुटपाथ पर भी होगा काम : राजधानी में सड़क और यातायात की प्लानिंग में हमेशा खामी रही है। फुटपाथ इस खामी का सबसे बड़ा सुबूत हैं। शहर में जहां फुटपाथ की जरूरत है, वहां ढूंढने से भी फुटपाथ नजर नहीं आते हैं। जबकि ऐसी दर्जनों जगहें हैं जहां फुटपाथ की जरूरत भी नहीं है। लेकिन वहां फुटपाथ बना दिए गए हैं। दरअसल, शहर में सड़कें बनाते वक्त जहां जहां जगह मिली वहीं फुटपाथ बनाए गए हैं। गोल बाजार, जयस्तंभ जैसे व्यस्त इलाकों में फुटपाथ ही नजर नहीं आते, क्योंकि यहां दुकानदार फुटपाथ तक सामान फैला लेते हैं। निगम ट्रैफिक सुधारने की जिस योजना पर काम कर रहा है उसमें फुटपाथ भी शामिल है।

जहां स्टॉप नहीं वहां कहीं भी रोकी जा रही हैं बसें, इसलिए मेट्रो की तर्ज पर बनाई गई यह योजना

शिफ्ट होंगे छोटे बस स्टैंड

ट्रैफिक सुधारने के लिए निगम एक बड़ा सर्वे करवा कर ऐसी जगहें जहां बस स्टंडों की जरूरत नहीं है, वहां से स्टैंड हटाने की योजना पर भी काम होगा। एक्सपर्ट की सलाह पर कुछ सिटी बसों के रूट में भी फेरबदल किया जा सकता है। ऐसी जगहें जहां एक साथ दो -दो स्टैंड बनाए गए हैं उनको भी शिफ्ट किया जाएगा। निश्चित दूरी पर शहरवासियों को स्टैंड की सुविधा मिले इसके माध्यम से सुनिश्चित किया जाएगा। बसों की टाइमिंग रूट नंबर हर स्टैंड पर लिखा जाएगा ताकि शहर में आने वाले नए लोगों को भी कोई दिक्कत न हो।

ट्रैफिक सिस्टम को सुधारने के लिए स्मार्ट सिटी के तहत तेजी से काम चल रहा है। फिलहाल कंटेंट और नक्शे डेवलप किए जा रहे हैं। सुनियोजित तरीके से किए जा रहे इस काम से पूरे शहर का ट्रैफिक सिस्टम व्यवस्थित होगा। रजत बंसल, कमिश्नर, नगर निगम

दिल्ली में बस बॉक्स।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×