• Hindi News
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • पत्थलगड़ी: गिरफ्तार लोगों की रिहाई के लिए सीएस से मिला सर्व आदिवासी समाज
--Advertisement--

पत्थलगड़ी: गिरफ्तार लोगों की रिहाई के लिए सीएस से मिला सर्व आदिवासी समाज

भास्कर न्यूज | रायपुर/कोरबा सर्व आदिवासी समाज के ग्यारह सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने गुरूवार को महानदी भवन में...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 03:45 AM IST
भास्कर न्यूज | रायपुर/कोरबा

सर्व आदिवासी समाज के ग्यारह सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने गुरूवार को महानदी भवन में मुख्य सचिव अजय सिंह के साथ बैठक की। इसमें गृह सचिव के सुब्रह्मण्यम और आदिमजाति कल्याण विभाग के सचिव भी मौजूद रहे।

सर्व आदिवासी समाज ने 8 प्रमुख बिंदुओं पर मुख्य सचिव से चर्चा की इसमें पत्थलगड़ी के आरोप में गिरफ्तार लोगों को बिना शर्त रिहाई पर समाज की ओर से जोर दिया गया। इसके अलावा महाराष्ट्र मॉडल पर अनुसूचित क्षेत्रों में सी और डी ग्रुप में जनजाति के लिए आरक्षित करने, फर्जी प्रमाणपत्र से सरकारी नियुक्ति और अनुसूचित क्षेत्रों में भूमि अधिग्रहण के मुद्दों पर भी चर्चा हुई। करीब एक घंटे चली बैठक में समाज की ओर से 21 सूत्रीय मांगों में से 8 प्रमुख बिंदु रखे गए थे। सर्व आदिवासी समाज के प्रदेश अध्यक्ष बीपीएस नेताम ने कहा कि एक घंटे चली बैठक के बावजूद हमें खाली हाथ लौटना पड़ा, क्योंंकि शासन की ओर से हमें किसी भी तरह का कोई आश्वासन नहीं मिला।

कांग्रेस में जाना नेताम का निजी फैसला

सर्व आदिवासी समाज के नेताओं ने अरविंद नेताम के कांग्रेस में जाने के फैसले को उनका व्यक्तिगत निर्णय बताया है। समाज के प्रांतीय अध्यक्ष बीपीएस नेताम ने कहा कि समाज में सभी पार्टियों के लोग मौजूद हैं। हमारा अभियान एक गैर राजनीतिक अभियान है। और आदिवासी समाज की लड़ाई सभी मिलकर आगे भी लड़ेंगे। समाज के संरक्षक सोहन पोटाई ने कहा कि वो किसी राजनीतिक पार्टी में नहीं जाएंगे। सर्व आदिवासी समाज एक सामाजिक मंच है। और हम अपनी गैर राजनीतिक लड़ाई लड़ते रहेंगे। हमें राजनीति से कोई लेना देना नहीं है।

जारी रहेगी मांग


आदिवासी विकास मोर्चा ने कहा-सीएम का करेंगे स्वागत, संगठन को बताया फर्जी

आदिवासी विकास मोर्चा के संयोजक गोवर्धन सिंह कंवर व गोंड़वाना युवा मंच के अध्यक्ष नितिन कुमार मरावी ने बयान जारी कर विकास यात्रा में मुख्यमंत्री का स्वागत करने की घोषणा की है। उनका कहना है कि विकास यात्रा का विरोध करने का निर्णय किसी संगठन विशेष का हो सकता है। समाज का नहीं है। दूसरी ओर सर्व आदिवासी समाज से जुड़े शंभू शक्ति सेना के प्रदेश अध्यक्ष ने संगठन को ही फर्जी बता दिया है। उनका कहना है कि जो लोग पत्थलगड़ी आंदोलन का विरोध कर रहे हैं, वह सोची-समझी साजिश है। सर्व आदिवासी समाज ने पत्थलगड़ी आंदोलन का समर्थन करते हुए जशपुर व राजनांदगांव में गिरफ्तार आदिवासी समाज के प्रमुखों की नि:शर्त रिहाई की मांग को लेकर जेल भरो आंदोलन किया था। जिसमें 118 लोगों ने गिरफ्तारी दी थी। उसी दिन समाज ने घोषणा की थी कि विकास यात्रा का बहिष्कार किया जाएगा। इसके बाद समाज के लोग रणनीति बनाने में जुट गए हैं। आदिवासी विकास मोर्चा जिसका मुख्यालय मड़वाढोढ़ा को बताया गया है। इसके संयोजक कंवर ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में आदिवासी समाज विकास यात्रा का स्वागत करेगा। यह संगठन विशेष का निर्णय हो सकता है लेकिन मुख्यमंत्री का स्वागत करने सभी आगे आएंगे। दूसरी ओर समाज के ध्रुव का कहना है कि छत्तीसगढ़ में सर्व आदिवासी समाज, आदिवासी विकास परिषद व गोंड़वाना समिति ही आदिवासी समाज का नेतृत्व कर रही है। इसके खिलाफ इस तरह का बयानबाजी करना किसी को शोभा नहीं देता। राजनीतिक एजेंडे के तहत कुछ लोग समाज को गुमराह कर रहे हैं। समाज के लोगों के खिलाफ अन्याय किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..