--Advertisement--

नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिराकर रोकी मालगाड़ी, ड्राइवर से वॉकी-टॉकी भी छीनकर भागे

दंतेवाड़ा के कुपेर और कामालूर के बीच वारदात, रात भर रोके रहे ट्रेन, जवानों की जवाबी कार्रवाई में भागे नक्सली

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 06:21 AM IST
लाइन मरम्मत का काम सोमवार दोपहर तक जारी रहा। लाइन मरम्मत का काम सोमवार दोपहर तक जारी रहा।

दंतेवाड़ा. नक्सलियों ने रविवार की रात एक बार फिर केके रेल मार्ग पर निशाना साधते हुए कुपेर-कामालूर के बीच पेड़ काटकर मार्ग अवरूद्ध कर दिया। सुबह मौके पर रवाना हुए जवानों पर घात लगाकर फायरिंग की और ब्लाॅस्ट से नुकसान पहुंचाने की कोशिश की लेकिन डीआरजी जवानों की सतर्कता व जवाबी कार्रवाई से नक्सलियों को भागना पड़ा। रविवार रात 11.23 बजे कामालूर स्टेशन से रवाना होकर पहुंची मालगाड़ी के ड्राइवर ने ट्रैक पर पेड़ गिरा हुआ देखकर और ओएचई तार टूटा पाकर इमरजेंसी ब्रेक लगाया।


ट्रेन के रूकते ही आसपास छिपे नक्सलियों ने पहुंचकर ड्राइवर और गार्ड से वाॅकी-टॉकी छीन लिया। मौके पर पोस्टर भी चस्पा कर गए। इसी बीच नक्सलियों के दूसरे दल ने कामालूर स्टेशन पर पहुंचकर वहां खड़ी दूसरी मालगाड़ी के ड्राइवर, गार्ड से भी वाकी टॉकी छीन लिया और ड्यूटी पर मौजूद स्टेशन मास्टर को धमकाया। सोमवार सुबह घटनास्थल पर जाते जवानों पर भी नक्सलियों ने फायरिंग की पर जवानों की तगड़ी जवाबी फायरिंग से घबराकर नक्सली भाग निकले।

पैसेंजर किरंदुल में फंसी

ट्रैक पर पेड़ गिराए जाने से ओएचई लाइन और ट्रैक क्षतिग्रस्त होने के चलते रात से इस रूट पर ट्रेन यातायात बंद है। किरंदुल से विशाखापट्टनम तक चलने वाली पैसेंजर को स्थगित कर दिया गया। स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन भी जगदलपुर से ही लौट गई। लाइन मरम्मत का काम दोपहर तक जारी रहा। रेल मार्ग बाधित होने से रेलवे को एक दिन में ही करीब एक करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। लगातार मरम्मत के बाद शाम 5 बजे ओएचई को फिट घोषित किया गया जिसके बाद इस मार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई है।

नक्सली भय से रात में स्टाफ नहीं पहुंचा, सुबह शुरू हुई मरम्मत
नक्सल हमले के जोखिम को देखते हुए रेलवे का स्टाफ रात में मरम्मत के लिए नहीं पहुंचा, सोमवार की सुबह भांसी थाने से पहुंची फोर्स की मौजूदगी में ट्रैक की मरम्मत का काम शुरू कर दिया। इस बीच दंतेवाड़ा से पंडेवार-कामालूर मार्ग से होकर घटना स्थल की ओर जा रहे डीआरजी के जवानों पर पंडेवार-कामालूर की सरहद के नजदीक घात लगाए नक्सलियों ने हमला बोल दिया। जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए आईईडी ब्लास्ट कर फायरिंग शुरू कर दी। इस हमले को नाकाम करते हुए डीआरजी के जवानों ने जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। जवानों को भारी पड़ता नक्सली वहां से भाग निकले। लेकिन जाते-जाते कमालूर स्टेशन के नजदीक खड़े एक ट्रेलर को आग के हवाले कर गए। यह ट्रेलर रेलवे लाइन दोहरीकरण कार्य के लिए ओएचई पोल लेकर आया था। मुठभेड़ स्थल की सर्चिंग में जवानों ने मौके से 2 जिंदा बम और रेलवे स्टाफ से छीना गया एक वॉकी-टॉकी बरामद किया।

बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में थे नक्सली, इसलिए किया आईईडी ब्लास्ट

नक्सली इसके पहले भी कुपेर-कमालूर के आस-पास दर्जनों बार ट्रैक को बाधित करने की कोशिश कर चुके हैं, हर बार नक्सली ऐसी वारदात को अंजाम देकर मौके से भाग जाते थे, लेकिन इस बार नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाने के बाद मरम्मत कार्य में सुरक्षा देने पहुंचने वाली फोर्स पर हमले की पूरी तैयारी कर रखी थी। नक्सलियों को इस बात का पूरा अनुमान था कि फोर्स कमालूर के रास्ते ही पहुंचेगी, तभी पंडेवार-कमालूर के बीच नक्सलियों ने कच्ची सड़क पर 3 आईईडी लगाकर रखा था।

जैसे ही डीआरजी के जवान सुबह इस रास्ते से आए, नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी लेकिन डीआरजी के जवानों ने जवाबी कार्रवाई से नक्सली भाग खड़े हुए और एक बड़ी घटना टल गई। इस मामले में पुलिस की रणनीति भी कारगर साबित हुई। पुलिस ने घटना स्थल पर सुरक्षा देने के लिए भांसी व दंतेवाड़ा थाने से अलग-अलग रास्तों से फोर्स रवाना किया, जिससे नक्सलियों की योजना नाकाम हो गई। एएसपी गोरखनाथ बघेल ने बताया कि फोर्स की दूसरी पार्टी पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया। फोर्स पर हमले की तगड़ी प्लानिंग हुई थी। मौके 2 जिंदा आईईडी और वॉकी-टॉकी बरामद किया गया है।

मुठभेड़ के बाद जाते-जाते नक्सलियों ने ट्रेलर में आग लगाई। मुठभेड़ के बाद जाते-जाते नक्सलियों ने ट्रेलर में आग लगाई।
सोमवार सुबह मुठभेड़ स्थल से बरामद आईईडी। सोमवार सुबह मुठभेड़ स्थल से बरामद आईईडी।
नक्सलियों के रेलवे ट्रैक पर डाले गए पेड़ों को हटाते रेलकर्मी नक्सलियों के रेलवे ट्रैक पर डाले गए पेड़ों को हटाते रेलकर्मी
रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिरने के कारण रुकी मालगाड़ी रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिरने के कारण रुकी मालगाड़ी
रेलवे ट्रैक पर डालने के लिए नक्सलियों के द्वारा काटे गए पेड़ रेलवे ट्रैक पर डालने के लिए नक्सलियों के द्वारा काटे गए पेड़
X
लाइन मरम्मत का काम सोमवार दोपहर तक जारी रहा।लाइन मरम्मत का काम सोमवार दोपहर तक जारी रहा।
मुठभेड़ के बाद जाते-जाते नक्सलियों ने ट्रेलर में आग लगाई।मुठभेड़ के बाद जाते-जाते नक्सलियों ने ट्रेलर में आग लगाई।
सोमवार सुबह मुठभेड़ स्थल से बरामद आईईडी।सोमवार सुबह मुठभेड़ स्थल से बरामद आईईडी।
नक्सलियों के रेलवे ट्रैक पर डाले गए पेड़ों को हटाते रेलकर्मीनक्सलियों के रेलवे ट्रैक पर डाले गए पेड़ों को हटाते रेलकर्मी
रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिरने के कारण रुकी मालगाड़ीरेलवे ट्रैक पर पेड़ गिरने के कारण रुकी मालगाड़ी
रेलवे ट्रैक पर डालने के लिए नक्सलियों के द्वारा काटे गए पेड़रेलवे ट्रैक पर डालने के लिए नक्सलियों के द्वारा काटे गए पेड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..