Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Mother Did Not Pay For Liquor Son Set Fire To House

मां ने शराब पीने के लिए रुपए नहीं दिए तो बेटे ने घर में लगा दी आग और मारने भी दौड़ा

शराब पीने के लिए एक युवक ने अपनी मां से रुपए मांगे और जब उसे रुपए नहीं मिले तो उसने अपने ही घर को फूंक डाला।

bhaskar news | Last Modified - May 09, 2018, 05:25 AM IST

मां ने शराब पीने के लिए रुपए नहीं दिए तो बेटे ने घर में लगा दी आग और मारने भी दौड़ा

रायपुर। शराब पीने के लिए एक युवक ने अपनी मां से रुपए मांगे और जब उसे रुपए नहीं मिले तो उसने अपने ही घर को फूंक डाला। नपा के दमकल कर्मचारी और पुलिस की मदद से जब तक आग पर काबू पाया जाता घर का सारा सामान जलकर राख हो गया। आरोपी की बहन की रिपोर्ट पर पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया।

मां को गाली-गलौज करने के बाद मारने भी दौड़ा
- चैनपुर निवासी जगमतिया (60) इंदिरा आवास में अपनी बेटी ललिता (30) के साथ रहती है। जगमतिया के पति की मौत वर्षों पहले हो चुकी है, बेटी ही मजदूरी कर अपनी मां की देखभाल कर रही है।

- जगमतिया ने बताया कि सोमवार की शाम उसका बेटा नंदलाल (40) ने शराब पीने के लिए उससे पैसों की मांग की। पैसे नहीं देने पर बेटे ने उनके साथ गाली-गलौज और वाद-विवाद करते हुए उन्हें मारने के लिए दौड़ाया।

- किसी प्रकार अपनी जान बचाकर पड़ोस में अपनी रात काटी। उसने बताया कि सुबह जब घर पहुंची तो घर से धुंआ उठ रहा था।

- आस-पड़ोस के लोगों की मदद से आग पर काबू पाने के बाद वह नहाने के लिए घर से दूर तालाब में चली गई और दोबारा लौटकर देखा तो घर जल रहा था।

- पड़ोस के लोगों ने बताया कि जब उनके द्वारा आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया तो घर के छज्जे पर बैठे आरोपी नंदलाल ने विवाद करते हुए उन्हें आग बुझाने से रोक दिया।

- बाद में आरोपी की बहन ललिता ने पुलिस थाने पहुंचकर घटना की सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस और नपा के दमकल कर्मी सुरेश व बाबू वाहन लेकर पहुंचे और आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक लाखों रुपए का सामान जलकर राख हो चुका था। घर की छत पर लगी सीमेंट की सीट भी क्षतिग्रस्त हो गई।

- टीआई विमलेश दुबे ने बताया कि खर्च के लिए पैसे न देने पर घर में आग लगाने की रिपोर्ट आरोपी की बहन ललिता सारथी द्वारा पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है।

- आरोपी नंदलाल पिता पतिराम सारथी (40) चैनपुर के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया है।



बेटी ने कड़ी मेहनत कर जोड़ा था गृहस्थी का सामान
- दमकल कर्मी जब आग बुझाने में लगे हुए थे तब आरोपी की मां जगमतिया बाहर खड़े होकर फवक-फवक कर रो रही थी। उसने बताया कि उसके पुत्र ने घर में आग लगाकर सब कुछ खाक कर दिया है।

- उनके पास अब एक जोड़ी कपड़े ही बचे हैं। उसने बताया कि पति की मौत के बाद उसकी बेटी ललिता मेहनत-मजदूरी कर घर चला रही है।

- उसने कड़ी मेहनत कर गृहस्थी का सामान जोड़ा था, लेकिन बेटे ने घर में आग लगाकर सब कुछ नष्ट कर दिया। साथ ही उसने कहा कि बहू के साथ मारपीट करने पर तीन बार उसकी गिरफ्तारी हो चुकी है, लेकिन मां ने हजारों रुपए खर्च कर उसकी जमानत कराई थी।


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×