Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Naxalites Massacre In Chhattisgarh : Attack On BSF Camp, Fired In Vehicles, Dug Roads

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का उत्पात, बीएसएफ कैंप पर हमला, वाहनों में लगाई आग, फेंके पर्चे

बैनर और पर्चे में छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा के गढ़चिरौली में हुई मुठभेड़ की निंदा

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 01, 2018, 01:19 PM IST

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का उत्पात, बीएसएफ कैंप पर हमला, वाहनों में लगाई आग, फेंके पर्चे

- कांकेर में नक्सली- बीएसएफ जवानों फायरिंग

- नारायणुपर में एक लाख के इनामी सहित पांच नक्सली गिरफ्तार

रायपुर/कांकेर/दंतेवाड़ा।नक्सलियों ने 24 घंटों के दौरान छत्तीसगढ़ के अलग-अलग स्थानों में जमकर उत्पात मचाया। दंतेवाड़ा में जहां रेल लाइन के दोहरीकरण में लगे वाहनों में आग लगा दी अौर कर्मचारियों से मारपीट की। वहीं बीजापुर में मंगलवार को सड़क मार्ग को खोद दिया, वहीं पर्चे और बैनर भी फेंके। बैनर और पर्चे में माओवादियों ने छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र की सीमा पर हुई मुठभेड़ की निंदा की है। उधर, कांकेर में माओवादियों ने बीएसएफ कैंप को निशाना बनाया। हालांकि सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में नक्सली भाग निकले।

- 22 अप्रैल को महाराष्ट्र के गढचिरौली में सुरक्षा बल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। करीब 36 घंटे चली इस मुठभेड़ में 40 नक्सलियों के मारे जाने की पुष्टि की गई है। पुलिस ने उनके शव भी बरामद किए थे। - इसके बाद माओवादी नेताओं और समर्थकों ने इस मुठभेड़ पर सवाल खड़े किए थे। इसके बाद मंगलवार को नक्सलियों ने इसके विरोध स्वरूप बीजापुर में भैरमगढ़-केशकुतुल मार्ग को खोद कर आवागमन प्रभावित किया। माओवादियों की भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने घटना को अंजाम दिया है.

बीएसएफ कैंप को बनाया निशाना

- उधर, कांकेर में माओवादियों ने सोमवार देररात बीएसएफ के कैंप को निशाना बनाया। नक्सल प्रभावित कांकेर जिले के मह​ला स्थित बीएसएफ कैंप पर माओवादियों ने घात लगाकर हमला किया।

- बीएसएफ के सुरक्षाबलों ने करीब 20 मिनट तक माओवादियों की फायरिंग का जमकर जवाब दिया। इस हमले में सुरक्षाबल के किसी जवान को कोई नुकसान नहीं हुआ है। घटना कांकेर के परतापुर थाना क्षेत्र में हुई है। फिलहाल इलाके में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और सर्चिंग अभियान चलाया जा रहा है।

पांच वाहनों में लगाई आग

- वहीं सोमवार रात ही नक्सलियों ने दंतेवाड़ा में रेललाइन दोहरीकरण में लगे वाहनों को आग लगा दी। घटना जिला मुख्यालय से करीब 10 किमी दूर ग्राम कुपेर की है। यहां पर रेललाइन दोहरीकरण का काम चल रहा है।

- यहां वीएससी कंस्ट्रक्शन कंपनी काम कर रही है। नक्सली देर शाम पहुंचे और काम बंद करा दिया। साथ ही ठेकेदार के दो कर्मचारी एम.त्रिनाथ नायडू और एम.गुरू मूर्ति को अपने कब्जे में लेकर उनसे मारपीट की। इसके बाद वहां खड़ी दो ट्रैक्टर, दो बाइक और एक मिक्सर मशीन को आग के हवाले कर दिया।

- इस दौरान अन्य मजदूरों को पास में बंधक बनाए रखा और दोबारा काम नहीं आने की हिदायत दी। साथ ही ठेकेदार के कर्मचारियों को भी दोबारा काम चालू करने पर जान से मारने की धमकी दी। वारदात को अंजाम देने के बाद नक्सली जिंदाबाद का नारा लगाते पहाड़ी- जंगल की ओर भाग निकले।

- इधर मारपीट और आग लगाने की सूचना मुख्यालय पहुंचने पर फोर्स भेजा गया। साथ ही एएसपी नक्सल आपरेशन जीएन बघेल व टीआई राजेश देवदास भी मौके पर पहुंचे। फोर्स जब कुपेर पहुंची, वाहनों में लगी हुई थी। जिसे जवानों ने बुझाया। साथ ही क्षतिग्रस्त कुछ वाहन और घायलों को लेकर जिला मुख्यालय पहुंची।

- घायल कर्मचारियों को जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। डंडे से हुई मारपीट से उनके पीठ और शरीर में सूजन आ गई है। अंदरूनी चोट की भी की बात कही जा रही है। फिलहाल कर्मचारियों का एक्सरे सहित अन्य जांच की जा रही है।

नारायणपुर में पांच नक्सली गिरफ्तार

- दूसरी ओर पुलिस को मंगलवार बड़ी कामयाबी हाल लगी है। पुलिस ने नारायणपुर में पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए नक्सलियों में एक लाख का इनामी और एक वारंटी भी शामिल है।

- इन नक्सलियों को पुलिस ने जवाडा और कानागांव के जंगल से गिरफ्तार किया है। इनमें से चार नक्सली ओरछा थाना इलाके और एक को एडका थाना इलाके से पकड़ा गया है। पकड़े गए नक्सली कई घटनाओं और वारदातों में शामिल रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×