Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Pathalgadi Movement Controversy: Police Arrested Three More People In Jashpur

पत्थलगड़ी आंदोलन विवाद : जशपुर में पुलिस ने तीन और लोगों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने 45 अन्य को भी किया है नामजद, तलाश जारी, दो दिन पहले ही रिटायर्ड आईएएस किंडो सहित दो लोग हुए थे गिरफ्तार

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 01, 2018, 03:17 PM IST

पत्थलगड़ी आंदोलन विवाद : जशपुर में पुलिस ने तीन और लोगों को किया गिरफ्तार

रायपुर।जशपुर जिले के बच्छरांव गांव में पत्थलगड़ी आंदोलन विवाद मामले में पुलिस ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। नारायण पुलिस ने बच्छरांव से दाऊद कुजूर, सुभाष कुजूर और पीटर खेर को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही 45 अन्य नामजद आरोपियोंं की तलाश की जा रही है। इस मामले में पुलिस ने दो दिन पहले ही रिटायर्ड आईएएस एचपी किंडो और ओएनजीसी के रिटायर्ड अधिकारी जोसेफ तिग्मा को गिरफ्तार किया था।

- पुलिस के मुताबिक 22 अप्रैल को जोसेफ तिग्गा के नेतृत्व में पत्थलगड़ी आंदोलन की नीव बच्छरांव में रखी गई थी। कार्यक्रम के दौरान जोसेफ ने संविधान की गलत व्याख्या कर आदिवासियों को भड़काने का प्रयास किया। उन्होंने शासन और प्रशासन के खिलाफ भड़काऊ भाषण भी दिए। पुलिस के मुताबिक यह कार्यक्रम एचपी किंडो के सहयोग से आयोजित किया गया था।

- पुलिस नारायणपुर थाने में दोनों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर मामले की जांच कर रही थी। इन दोनों के बाद पुलिस ने ऐसे लोगों की पहचान शुरू कर दी है, जो पत्थलगड़ी मुहिम में शामिल हैं। इसी कड़ी में पुलिस ने सोमवार रात दाउद कुजुर, सुभाष कुजुर और पीटर खेस को गिरफ्तार किया है।

- खबर यह भी है कि इनके अतिरिक्त 45 लोग नामजद किए गए हैं। पुलिस उनकी भी तलाश कर रही है। तीनों आरोपियों को बादलखोल क्षेत्र के अलग अलग गांव से गिरफ्तार किया गया है।

नियमों को तोड़ जेल में भाई से मिलने पहुंची आईएएस

-उधर, रिटायर्ड अधिकारी एचपी किंडो से जेल में मिलने के लिए सोमवार शाम को उनकी बहन आईएएस जेनेलिया किंडो पहुंची थी। जेनेलिया किंडो प्रदेश में सीनियर आईएएस हैं और रायपुर में नियुक्त हैं।

- सूत्रों के मुताबिक, आईएएस जेनेलिया किंडो शाम करीब 5 बजे जेल में जशपुर जेल में बंद अपने भाई से मिलने के लिए पहुंची थी। उस दौरान जेल प्रशासन ने पांच बजे के बाद जेल पहुंचने के कारण भाई से मिलाने से इंकार कर दिया। जेल के नियमों के अनुसार, शाम पांच बजे के बाद में किसी से भी नहीं मिला जा सकता है।

- इस पर आईएएस जेनेलिया ने अपने रुतबे का रौब दिखाया और अपने भाई से मिलने की बात कही। इस पर जेल प्रशासन ने जेलर के कमरे में उनकी मुलाकात करा दी। खास बात कि जेल के विजिटर रजिस्टर में भी उनका नाम नहीं दर्ज किया गया।

- हालांकि वो जेल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गईं। मामला सामने आने के बाद जेल डीजी ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×