--Advertisement--

रात 3 बजे गश्ती गाड़ी गुजरी और 4.15 बजे लौटी इसी सवा घंटे में अमलीडीह की 7 दुकानों में चोरी

Raipur News - अमलीडीह की मेन रोड की 7 दुकानों में शुक्रवार-शनिवार की रात चोरों के बड़े गिरोह ने धावा बोला। गिरोह ने एक-एक कर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:01 AM IST
Raipur News - patrol passes at 3 in the night and at 415 pm in the last 7 hours amalidih stolen in 7 shops
अमलीडीह की मेन रोड की 7 दुकानों में शुक्रवार-शनिवार की रात चोरों के बड़े गिरोह ने धावा बोला। गिरोह ने एक-एक कर जूते-चप्पल, कपड़े, केक और सीमेंट एजेंसी का शटर बीचोबीच से लोहे की राड की मदद से तोड़कर उठाया और भीतर घुसकर गल्ले से रकम या कीमती सामान चुरा लिया। इन दुकानों के सामने से रात 3 बजे पुलिस का गश्ती दल गुजरा था। तब तक सब ठीक था। सुबह 4.15 बजे टीम लौटी और दुकानों के शटर टूटे देखे, तब हल्ला मचा। पुलिस ने घटनास्थल के चारों ओर 50 मीटर के दायरे में सभी सड़कों और गलियों में लगे कैमरे के फुटेज छान मारे लेकिन किसी में चोर नजर नहीं आए।

पुलिस ने शनिवार को आधा दर्जन से ज्यादा संदिग्धों को हिरासत में लिया है। दावा किया जा रहा है कि इलाके के अधिकतर नामी चोर गायब हैं। हालांकि दुकानों के ताले जिस तरह से एक घंटे के भीतर तोड़े गए हैं, उससे बाहरी गिरोह का हाथ होने का शक है। पुलिस रिकार्ड के अनुसार हरियाणा, पश्चिम बंगाल के साहेबगंज और बिहार के घोड़ासहन में इसी पैटर्न पर चोरियां करने वाला गिरोह काम करता है।

हालांकि पुलिस का फोकस अभी किसी तरह से संदिग्धों का फुटेज तलाश करना है। अफसरों का मानना है कि फुटेज हाथ में आने से तीनों राज्यों की पुलिस को उनकी फुटेज भेजकर वहां के निगरानी चोरों की हिस्ट्री मांगी जाएगी। उनकी हिस्ट्री मिलने से फुटेज के आधार पर मिलान किया जाएगा। इस फार्मूले से पता चल जाएगा कि कहां अभी कौन सा गिरोह बाहर मूवमेंट के लिए निकला है। ऐसा करने से गिरोहबाजों को पकड़ने में आसानी होगी।

सेंट्रल लॉक नहीं था, इसलिए अासानी से उठा दिए शटर।

डेढ़ माह पूर्व नाकाम कोशिश

25 अक्टूबर की रात इन्हीं 7 दुकानों में शामिल प्रतीक देवांगन के मिस्ट्री कैफे में चोरी की कोशिश की गई थी। उस समय भी शटर को लोहे की राड से उठाकर चोरों ने भीतर घुसने का प्रयास किया था। दुकान के सामने रहने वाले एक बुजुर्ग उसी समय उठे थे। उन्हें देखकर चोर वहां से भाग गए। उन्होंने अंधेरे में दो साए भागते हुए देखे थे। इस घटना शिकायत थाने में की गई थी। उसके बाद भी पुलिस ने यहां गश्त का सिस्टम नहीं बदला।

घनी आबादी वाला इलाका, मेन रोड पर पूरा मार्केट

अमलीडीह में चोरों ने घनी आबादी वाले इलाके की दुकानों में सेंध लगाई है। मेन रोड पर पूरा मार्केट है। इसी में प्रतीक देवांगन की मिस्ट्री कैफे, निखिल आहूजा की श्री बालाजी कलेक्शन, अशोक मेघानी की राजधानी शूज, एलके गुप्ता की शिखा क्लॉथ है। इन दुकानों के अलावा चोर लोहा-सीमेंट की दुकान समेत दो दुकानों में घुसे। एक दुकान में शटर के बाद कांच का दरवाजा होने की वजह से चोर भीतर नहीं घुस सके। उसके बाद दो दुकान छोड़कर कपड़े के शो रुम में घुसे। उसी के बाजू जूते-चप्पल की दुकान है। वहां शटर उठाने के साथ कांच भी तोड़ा गया। इस दुकान से 100 मीटर दूर एक दूसरी कपड़े की दुकान है। वहां से चोर कपड़े ले गए। उसके बाद उन्होंने सौ मीटर दूर लोहे की दुकान में सेंध लगायी है।

चादर ओढ़कर दुकान के सामने सोते हैं, सूना होते ही वारदात

पुलिस को वारदात में पेशेवर गिरोह का होने का शक है। आमतौर पर ये गिरोह शटर के पास बिस्तर लगाकर सोता है। एक सदस्य सोता है दूसरा चादर में छिपकर शटर उठाता है। एक व्यक्ति के घुसने लायक उठाने के बाद लेटा हुआ चोर भीतर घुस जाता है और दूसरा वहीं लेट जाता है। इस पैटर्न से पश्चिम बंगाल, बिहार और हरियाणा के गिरोह वारदातें करते हैं। पिछले साल पश्चिम बंगाल के गिरोह ने करीब 25 लाख से ज्यादा की चोरी की थी।

5 बजे पहुंचे दुकान मालिक

पुलिस का दावा है कि रात 3 बजे थाने की पेट्रोलिंग गाड़ी वहां से गुजरी थी। रात 4:15 बजे जब लौटी तो शटर उठे हुए थे। वहां पर कोई नहीं था। इसलिए शक है कि एक से सवा घंटे के भीतर शटर उठाकर चोरी किया गया है। कारोबारियों का आरोप है कि पुलिस को चोरी का पता चल गया था, लेकिन किसी भी कारोबारी को सूचना नहीं दी गई। यहां तक वहां पर पुलिस भी तैनात नहीं थी। 5 बजे कारोबारियों का आसपास वालों ने सूचना दी। तब उन्होंने डायल 100 को सूचना दी।

X
Raipur News - patrol passes at 3 in the night and at 415 pm in the last 7 hours amalidih stolen in 7 shops
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..