--Advertisement--

रायपुर में पेट्रोल और डीजल पहुंचा अब तक की सबसे ऊंची कीमत पर

कांग्रेस का भारत बंद कल, व्यापारी शामिल नहीं होंगे

Danik Bhaskar | Sep 09, 2018, 01:41 AM IST

रायपुर . रायपुर में शनिवार को पेट्रोल 12 पैसे महंगा होकर 80.88 रुपए का हो गया। डीजल के दाम 11 पैसे बढ़कर 78.39 रुपए प्रति लीटर हो गए। वहीं दिल्ली में शनिवार को पेट्रोल की कीमत 80 रुपए के पार चली गई। यह 39 पैसे महंगा होकर 80.38 रुपए प्रति लीटर पर बिका। वहीं, डीजल भी 44 पैसे महंगा हुआ। इसकी कीमत रिकॉर्ड 72.51 प्रति लीटर रही। वहीं, मुंबई में पेट्रोल की कीमत 88 रुपए प्रति लीटर के पास पहुंच गई है। शनिवार को मुंबई में पेट्रोल 38 पैसे महंगा हुआ। इसकी कीमत 87.77 रुपए लीटर रही। वहीं, डीजल 47 पैसे की मूल्यवृद्धि के साथ 76.98 रुपए प्रति लीटर पर बिका। दिल्ली में ईंधन पर वैल्यू एडेड टैक्स (वैट) की दर कम है। इस वजह से चार महानगरों में दिल्ली में पेट्रोल-डीजल की दरें सबसे कम हैं, जबकि मुंबई में ईंधन सबसे अधिक हैं। अगस्त मध्य के बाद से पेट्रोल 3.24 रुपए और डीजल 3.74 रुपए महंगा हो चुका है। यह पिछले साल जून में ईंधन कीमतों में रोज बदलाव की व्यवस्था शुरू होने के बाद से किसी पखवाड़े में हुई सबसे अधिक मूल्यवृद्धि है। पेट्रोल-डीजल की खुदरा कीमतों में करीब 50% योगदान केंद्र और राज्यों के टैक्स का होता है।

कांग्रेस का भारत बंद कल, व्यापारी शामिल नहीं होंगे: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया है। कांग्रेस के इस भारत बंद को लेफ्ट पार्टियों का भी समर्थन है। लेकिन छोटे व्यापारी इसमें शामिल नहीं होंगे। छोटे दुकानदारों के अखिल भारतीय संगठन कैट ने भारत बंद का समर्थन नहीं किया है।

कांग्रेस का भारत बंद सोमवार को, व्यापारी शामिल नहीं होंगे : पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्षी पार्टियां सरकार पर हमले कर रही हैं। कांग्रेस ने सोमवार (10 सितंबर) को भारत बंद का आह्वान किया है। कांग्रेस के इस भारत बंद को लेफ्ट पार्टियों का भी समर्थन है। लेकिन छोटे व्यापारी इसमें शामिल नहीं होंगे। छोटे दुकानदारों के अखिल भारतीय संगठन कैट ने भारत बंद का समर्थन नहीं किया है। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने शनिवार को कहा कि कैट ने आगामी 28 सितंबर को वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे और रिटेल कारोबार में विदेशी निवेश के खिलाफ भारत व्यापार बंद का आह्वान किया है। इसकी तैयारियां पूरे देश में चल रही हैं।

ट्रक ऑपरेटर पेट्राेल-डीजल की बढ़ी कीमतों का विरोध करेंगे: ट्रक ऑपरेटरों ने कहा है कि वे पेट्रोल, डीजल की कीमतें बढ़ाने के खिलाफ विभिन्न जिलों में विरोध प्रदर्शन करेंगे। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) ने कहा, ‘पिछले सात दिनों में ईंधन के दामों में भारी बढ़ोतरी हुई है। सरकार को इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए।’

पेट्रोल-डीजल के जीएसटी में नहीं होने से 15,000 करोड़ का नुकसान : पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के मुताबिक अब जरूरी हो गया है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिए। अभी इन दोनों ईंधन के जीएसटी के बाहर होने से देश को करीब 15,000 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। यदि इन्हें जीएसटी में लाया जाता है तो यह उपभोक्ताओं के साथ-साथ सभी के हित में होगा।

सिर्फ एक्साइज ड्यूटी घटाने से कीमतें कम नहीं होंगी: पेट्रोलियम मंत्री ने कहा, ‘सिर्फ एक्साइज ड्यूटी घटाकर स्थिति से प्रभावी तौर पर नहीं निपटा जा सकता है। तेल कीमतों में असामान्य बढ़ोतरी अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक और आर्थिक हालात के कारण है। ईरान, वेनेजुएला और तुर्की जैसे देशों में राजनीतिक हालात से कच्चे तेल का उत्पादन प्रभावित हुआ है।’