Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Rs 20 Lakh Cheats In The Name Of Job In The Municipal Corporation In Raipur

खुद को नगर निगम में कार्यरत बता 8 युवकों को नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगे 20 लाख रुपये

काेतवाली थाना पुलिस ने महिला सहित दो काे किया गिरफ्तार

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 11, 2018, 07:01 PM IST

खुद को नगर निगम में कार्यरत बता 8 युवकों को नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगे 20 लाख रुपये

रायपुर।राजधानी में लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का खेल जारी है। इस बार ठगों ने नगर निगम में नौकरी दिलाने के नाम पर 8 युवकों से 20 लाख रुपये ठग लिए। कोतवाली थाना पुलिस ने इस मामले में बुधवार शाम महिला सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

- जानकारी के मुताबिक, कोतवाली थाना पुलिस ने भाटापारा बालौदा बाजार निवासी भागवत साहू और बोरियाखुर्द टिकरापारा निवासी प्रतिभा सेट्टी उर्फ रुपाली सेट्टी को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों आरोपियों ने बड़े ही शातिराना अंदाज में युवकों से ठगी की।

- पूछताछ में पता चला है कि आरोपी अलग-अलग जिलों में बेरोजगार युवकों को अपना शिकार बनाते थे। पुलिस अभी इस मामले में और जांच कर रह है। पुलिस का कहना है कि अभी इनकी ठगी के शिकार सामने आ सकते हैं। आरोपियों के पुराने केसों को लेकर भी जांच की जा रही है।

ऐसे बनाया शिकार

- रोहरा बलौदा बाजार भाटापारा निवासी विनोद निषाद का उसी के गांव के रहने वाले भागवत साहू से अप्रैल 2015 में मुलाकात हुई। इस दौरान भागवत ने विनोद अौर उसके साथियों काे बताया कि वो नगर निगम रायपुर के जोन 6,2,3 में कार्यरत है।

- आरोप है कि भागवत ने उनसे कहा कि नगर निगम में कई पदों पर भर्ती हाेने वाली है। अगर तुम लोग चाहो तो वो नौकरी लगवा सकता है। नगर निगम में ही प्रतिभा सेट्टी मैडम से उसकी बात हो गई है। उन्होंने कहा है कि नौकरी लग जाएगी, लेकिन रुपये लगेंगे।

- इस पर विनोद अौर उसके साथी भागवत के झांसे में आ गए। नौकरी लगवाने के लिए पदों के अनुसार विनोद ने 2 लाख, रिखी ने व पुनीत साहू ने 2.5-2.5 लाख, भोला निषाद ने 1.80 लाख, मोहन निषाद व धनुष ने 3-3 लाख, नरेंद्र साहू व पोषण साहू ने 90-90 हजार और अन्य लोगों किस्तों में यह रुपये दिए।

- युवकों ने बताया कि नगर निगम के सामने गार्डन में इन लोगों ने जनवरी और अगस्त 2015 में आरोपियों को किस्तों में 20 लाख रुपये से ज्यादा की राशि दे दी। इसके बाद प्रतिभा सेट्टी और भागवत ने चुनाव का हवाला देते हुए एक वर्ष में नियुक्ति पत्र और नौकरी लगने की बात कही।

- एक साल बीतने के बाद भी जब नौकरी नहीं लगी तो युवकों ने आरोपियों से संपर्क किया। पहले तो वो टाल-मटोल करते रहे अौर फिर मोबाइल स्विच ऑफ कर दिया। युवकों ने जब उनके बारे में पता लगाया तो नगर निगम में इस नाम के कोई कर्मचारी नहीं मिले। इस पर युवकों को ठगी होने का पता चला।

रिपोर्ट/फोटो : विंदेश श्रीवास्तव

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×