--Advertisement--

सांप काट ले तो कटे हुए स्थान को न मुंह

सांप काट ले तो कटे हुए स्थान को न मुंह लगाएं न ही काटें, सीधे अस्पताल ले जाएं : डॉ. इंचुलकर सिटी रिपोर्टर | रायपुर...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:45 AM IST
सांप काट ले तो कटे हुए स्थान को न मुंह लगाएं न ही काटें, सीधे अस्पताल ले जाएं : डॉ. इंचुलकर

सिटी रिपोर्टर | रायपुर

बारिश के दिनों में सांप के काटने की शिकायत अधिक मिलती है। ऐसे में कई लोग सर्पदंश वाले स्थान पर चीरा लगाते हैं या फिर कुछ लोग मुंह से जहर निकालने की कोशिश करते हैं। दोनों ही स्थिति पेशेंट के लिए खतरनाक है। ऐसा करने की कोशिश मेंं जहर निकालने का प्रयास करने वाले की जान भी जा सकती है। इससे बचने का सबसे अच्छा साधन है कि मरीज को फौरन अस्पताल ले जाएं। नोवा नेचर वेलफेयर सोसायटी की ओर से आयुर्वेदिक कॉलेज में बुधवार को हुई कार्यशाला में अगद तंत्र विभाग के अध्यक्ष डॉ. एसआर इंचुलकर छात्रों को सर्पदंश से उपचार की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि किसी व्यक्ति को सांप काट ले तो कटे हुए स्थान पर चूसना, काटना और झाड़-फूंक न करें। पीड़ित व्यक्ति को फौरन अस्पताल लेकर जाएं। सांप काटने की एक ही दवाई पॉलीवेलेंट एंटीवेनम है।

नोवा नेचर वेलफेयर सोसायटी की ओर से आयुर्वेदिक कॉलेज में हुई कार्यशाला

जानिए... सांप काटने में क्या-क्या जानना जरूरी है