--Advertisement--

पानी में उतरकर विद्या मितानों ने जताया विरोध, संविलियन की कर रहे हैं मांग

आदिवासी अंचलों में विषय विशेषज्ञों के तर्ज पर पदस्थ विद्या मितान व्याख्याता शिक्षक के पद पर संविलियन की मांग कर रहे हैं।

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 04:26 PM IST
राजधानी के बूढ़ा तालाब में कर र राजधानी के बूढ़ा तालाब में कर र

रायपुर। राज्य में शिक्षकर्मियों के संविलियन के बाद शिक्षा विभाग में पदस्थ विद्यानों ने भी अब संविलियन के लिए आंदोलन तेज कर दिया है। शुक्रवार को अपनी मांगो को लेकर राजधानी के बूढ़ा तालाब में विद्या मितान संघ ने जल सत्याग्रह कर अपना विरोध जताया। विद्या मितान संघ का कहना है कि अगर इनकी मांगे नहीं मानी गई, तो इनका आन्दोलन इसी तरह से जरी रहेगा।

- आदिवासी अंचलों में विषय विशेषज्ञों के तर्ज पर पदस्थ विद्या मितान व्याख्याता शिक्षक के पद पर संविलियन की मांग कर रहे हैं। विद्या मितान के प्रदर्शन को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी पिछले दिनों समर्थन दिया था। विद्या मितान का आरोप है कि वो छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं। शिक्षक की भांति से पठन-पाठन का काम करते हैं, ऐसे में समान काम के एवज में उन्हें समान अधिकार मिलना चाहिये। विद्या मितान ने सरकार से सभी विद्यामितानों का व्याख्याता शिक्षक के पद पर संविलियन की मांग रखी है। प्रदर्शन के बारे में विद्या मितान के नेता जीवन रठोरे का कहना है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी तो प्रदर्शन और भी उग्र होगा।

कंटेंट : राजेश जॉन पॉल

फोटो : भूपेश केशरवानी