--Advertisement--

भाजपा की विकास यात्रा : एनएसजी की निगरानी में हो रहा मंच का निर्माण, सशस्त्र जवानों ने डाला डेरा

दंतेवाड़ा में 12 मई से होगी यात्रा की शुरुआत, सीएम रमन सिंह के साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह करेंगे शिरकत

Danik Bhaskar | May 08, 2018, 05:55 PM IST
फाइल फोटो फाइल फोटो

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में 12 मई से भाजपा की विकास यात्रा शुरू हो रही है। इसको लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल होंगे। ऐसे में स्वयं गृहमंत्रालय पूरे इंतजामों पर नजर रख रहा है। एनएसजी की निगरानी में जहां मंच का निर्माण हो रहा है, वहीं सशस्त्र जवानों ने डेरा डाल लिया है।

- दोनों ही वीवीआईपी को एनएसजी की सुरक्षा मिली हुई है, लिहाजा एनएसजी के अफसर राज्य पुलिस के साथ लगातार संपर्क में बने हुए हैं। हाई स्कूल मैदान पर बन रहे मंच की अच्छी तरह से जांच की जा चुकी है, इसके अलावा सशस्त्र जवानों ने एमपीवी के साथ यहां पर डेरा जमा लिया है।

- कार्यक्रम में शामिल वीवीआईपी बहु स्तरीय सुरक्षा घेरे में रहेंगे। जिसमें एनएसजी कमांडो के अलावा सीएम सिक्योरिटी दस्ता, सीआरपीएफ, एसटीएफ और पुलिस के जवान शामिल रहेंगे। जिले में उपलब्ध फोर्स के अलावा राज्य के अन्य हिस्सों से भी फोर्स बुलाई जा रही है। प्रवास के सभी संभावित स्थलों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है।

मंच की छत की ऊंचाई बढ़ाई गई
- एनएसजी अफसरों की सलाह पर मंच की छत की ऊंचाई बढ़ाई जा रही है। साथ ही मई की गर्मी का असर कम करने के लिए छत की सीलिंग भी की जाएगी। इसी मंच से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जनसभा को संबोधित कर चुके हैं। प्रधानमंत्री प्रवास के दौरान मंच पर 3 एयरकंडीशनर भी लगाए गए थे, जिन्हें कार्यक्रम के बाद हटा लिया गया था।

3 बड़े डोम भी लग रहे
- आम जन व भाजपा कार्यकर्ताओं के बैठने के लिए मंच के सामने 3 बड़े डोम लगाए जा रहे हैं, जो मौसम की मार से बचाएंगे। बीजापुर जिले के जांगला में हाल ही में हुए पीएम प्रवास के दौरान इसी तरह के डोम लगाए गए थे।


60 हजार की भीड़ जुटाने का लक्ष्य
- सभा स्थल पर ही 60000 की भीड़ जुटाने का लक्ष्य तय किया गया है। इसके लिए जिले के सभी जनपद पंचायतों के साथ ही अलग-अलग विभागों को भी जिम्मेदारी दी गई है। राज्य स्तरीय कार्यक्रम होने की वजह से भाजपा और सरकार के लिए यह प्रतिष्ठा का विषय बन गया है।