--Advertisement--

सर्व अदिवासी समाज बोला- हम पत्थलगड़ी के साथ नहीं, मिशनरी बिगाड़ रही है माहौल

आरोप लगाया कि इसाई धर्म अपना चुके आदिवासियों पर क्षेत्र में पत्थलगड़ी के नाम पर अशांति फैलाने में जुटे हैं।

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 06:51 AM IST
We are not with pathhalgadi says Sarv Adivasi Samaj

जशपुरनगर. सर्व सनातन आदिवासी समाज ने स्पष्ट कर दिया है कि वे पत्थलगड़ी आंदोलन के साथ नहीं हैं। मंगलवार को जिला मुख्यालय के सर्किट हाउस में आयोजित पत्रकार वार्ता में समाज के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि इसाई धर्म अपना चुके आदिवासियों पर क्षेत्र में पत्थलगड़ी के नाम पर अशांति फैलाने में जुटे हुए हैं। इस दौरान समाज ने सरकार से धर्म बदल चुके आदिवासियों को आरक्षण और अल्पसंख्यकों को मिलने वाले तमाम विशेषाधिकार समाप्त करने की मांग भी की है।

उन्होंने आरोप लगाया कि धर्मांतरित इसाई समुदाय के लोग ही झारखण्ड के खूंटी, चाईबासा, सिमडेगा और सरायकेला-खरसावां जिलों के अलावा प्रदेश में सूरजपूर जिले के प्रेमनगर और ओड़गी विकासखण्ड में पत्थलगड़ी का आयोजन और सहभागिता कर रहे हैं।

कंवर समाज, नागवंशी समाज, उरांव समाज, नगेशिया समाज, सवरा समाज, भुइयां समाज के पदाधिकारी बैठक के बाद प्रेस से मिले। उन्होंने आरोप लगाया कि मिशनरी यहां अपने समाज के अधिकारी, जनप्रतिनिधि चाहती है। 1978 में मैडम मैरी के नेतृत्व में इस वर्ग विशेष के लोगों ने सरकारी योजनाओं का विरोध करने के लिए आम जनता को उकसाने का प्रयास किया था। साथ ही शासन के अफसरों का बादलखोल अभयारण्य क्षेत्र में प्रवेश प्रतिबंधित किया था। 1984 के पहले जशपुर से मिशनरी संस्थाओं के चहेते या धर्मांतरित ईसाई जैसे लुईस बेक, ब्लासियुस एक्का आदि ही विधायक, सांसद, जनप्रतिनिधी बनते थे, सरकारी नौकरियों में भी इन्हीं का वर्चस्व था। दिलीप सिंह जूदेव के नेतृत्व में लंबे समय तक क्षेत्र में जन-जागरण कार्यक्रम आयोजित किए गए जिसके बाद स्थिति सामान्य हुई।

पत्थलगड़ी मुहिम में शामिल चार और गिरफ्तार, 45 पर केस दर्ज
जशपुर | पत्थलगड़ी मामले में संयुक्त पुलिस की टीम ने मंगलवार को चार लोगों को करमा गांव के पास गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए चारों लोग ग्राम बुटुंगा, बछरांव के बड़े चेहरे हैं। पुलिस की कार्रवाई की आशंका में ये लोग बाइक पर सवार होकर गांव छोड़कर भाग रहे थे। सूचना मिलते ही पुलिस ने इन लोगों को गिरफ्तार किया। एक आरोपी पकड़े जाने के बाद भी फरार होने को कोशिश कर रहा था । चारों गिरफ्तार आरेापियों में दाऊद कुजूर, जगदेव मिंज, सुधीर एक्का, मिलियन मिंज है। एसडीओ पदमश्री तंवर ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

दोपहर 1 बजे पुलिस को सूचना मिली कि तीन आरोपी एक मोटर सायकल में जशपुर जिले से भागने के फिराक मे हैं, करमा गांव के एक पेड़ के नीचे खड़े हुए हैं। दो लोगों को यहां गिरफ्तार करने के बाद तीसरे आरोपी मिलियन मिंज को दूसरी जगह से पकड़ा गया। जगदेव मिंज को सिहारड़ाड से गिरफ्तार किया गया इन चारों आरोपियों पर गांव वालों को भड़काने और अधिकारियो को बंधक बनाने का आरोप है। गांव आने वालों का नाम पता एड्रेस सभी रजिस्टर में एंट्री करवाते थे। दो दिन में पुलिस ने एच पी किंडो, जोसफ मिंज, के साथ-साथ चार और आरोपियों को गिरफ्तार किया है पत्थलगड़ी कांड में इनकी प्रमुख भूमिका रही पुलिस की टीम अभी लगातार क्षेत्र में दबिश दे रही है बताया जाता है कि अभी 45 से ज्यादा लोगों की सूची पुलिस ने और बनाई हुई है।

X
We are not with pathhalgadi says Sarv Adivasi Samaj
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..