--Advertisement--

माइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर 500 मजदूरों से ढाई लाख की ठगी

खड़गांव पुलिस ने वनांचल के बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चारों...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:50 AM IST
खड़गांव पुलिस ने वनांचल के बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चारों आरोपी इसी इलाके के रहने वाले है, जिन्होंने 500 मजदूरों से 500-500 रुपए रकम व फर्जी रसीद देकर पल्लेमाड़ी माइंस में नौकरी दिलाने की बात कही थी। लेकिन लगभग सालभर बीत जाने के बाद भी न तो बेरोजगारों को नौकरी मिल और न ही उनकी रकम वापस हुई। मामले की शिकायत करने जब पीड़ित थाने पहुंचे, तो पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

खुद को संयुक्त खदान मजदूर संगठन (एटक) का अध्यक्ष व प्रमुख पदाधिकारी बताकर शगुन सिंह पिता दशरुराम, सुरेंद्र नेताम पिता चमरा राम, रतनू राम पिता छतरु व चमरा राम पिता सन्नू राम पल्लेमाड़ी माइंस में नौकरी दिलाने के नाम पर मजदूरों से पांच-पांच सौ रुपए लिए थे। इसके एवज में उन्होने एटक फर्जी सील व रसीद बनाकर पावती भी दी थी। नौकरी के अलावा आरोपियों ने माइंस के लाल पानी से प्रभावित होने वाले खेतों के मालिकों को 15 लाख रुपए तक का मुआवजा दिलाने का भी झांसा दिया था। आरोपियों के इसी झांसे में आकर करीब 500 मजदूरों व किसानों ने 2 लाख 50 हजार रुपए जमा किए थे। लेकिन आरोपी इस रकम को आपस में बांटकर फरार हो गए। मामले की शिकायत एक प्रार्थी ने खड़गांव थाने में की, जिसके बाद पुलिस आरोपियों की पतासाजी में जुटी। इसके बाद चारो को गिरफतार कर पूछताछ की गई। कड़ाई से हुई पूछताछ में आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। पुलिस ने सभी आरोपियों को जेल भेज दिया है। वहीं इनके पास से एटक की फर्जी सील, मुहर, रजिस्टर, बैनर व दस्तावेज भी जब्त किए हैं।