• Home
  • Chhattisgarh News
  • Rajnandgaon News
  • गट्टेपायली बेस कैंप से 150 मीटर दूर रात 3 बजे आईईडी प्लांट कर रहे थे नक्सली, ब्लास्ट
--Advertisement--

गट्टेपायली बेस कैंप से 150 मीटर दूर रात 3 बजे आईईडी प्लांट कर रहे थे नक्सली, ब्लास्ट

सड़क व पुल निर्माण की सुरक्षा में लगे जवानों को नुकसान पहुंचाने की प्लानिंग से लगाई जा रही आईईडी ब्लास्ट हो गई।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
सड़क व पुल निर्माण की सुरक्षा में लगे जवानों को नुकसान पहुंचाने की प्लानिंग से लगाई जा रही आईईडी ब्लास्ट हो गई। घटना रविवार के तड़के 3 बजे हुई।

रात में कुछ नक्सली पुलिस निर्माण वाले हिस्से में बम प्लांट करने पहुंचे थे। लेकिन प्लांट करते वक्त ही नक्सलियों की गलती से आईईडी फट गई। इसमें कुछ नक्सलियों के घायल होने की भी आशंका जाहिर की जा रही है। हालांकि सुबह मौके पर पहुंची बम स्क्वाड और सुरक्षा बल के जवानों को मौके से कुछ भी बरामद नहीं हुआ है। बस्तर इलाके में नक्सली बीते कुछ समय से सड़क निर्माण वाले हिस्सों में वारदातें कर रहे हैं। इसके बाद जिले के साउथ जोन में भी इस तरह की घटना सामने आई है। दरअसल बेसकैंप से कुछ दूरी पर ही पुल निर्माण का कार्य चल रहा है। जिसकी सुरक्षा में आईटीबीपी और जिला बल के जवान संयुक्त रुप से तैनात हैं। ये जवान इसी हिस्से से होकर गुजरते हैं, जहां बम प्लांट किया जा रहा था। पूरे दिन जवानों की मौजूदगी इसी हिस्से में रहती है। जिन्हें नुकसान पहुंचाने की प्लानिंग के साथ नक्सली आईईडी प्लांट करने पहुंचे थे।

आसपास हुई सर्चिंग, कुछ भी नहीं मिला: सुबह सुरक्षा बल जवानों सहित पुलिस की बस स्क्वाड टीम भी ब्लास्ट वाले हिस्से की सर्चिंग में पहुंची। जहां से आईईडी ब्लास्टिंग के सबूत के अलावा कुछ भी टीम को बरामद नहीं हुआ। पुलिस व आईटीबीपी की टीम ने पूरे इलाके की खोजबीन की। लेकिन नक्सलियों ने रात में ही सबकुछ समेट लिया था।

फायरिंग वालों की पहचान

इधर 18 मार्च को मोहला में पुलिस जवानों पर फायरिंग करने वालों की भी पहचान पुलिस ने कर ली है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने महाराष्ट्र इलाके से दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है। जिसने पूछताछ की जा रही है। हालांकि पुलिस ने अब तक इस गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है। लेकिन नक्सलियों के स्माल एक्शन टीम के सदस्य हैं।