• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Rajnandgaon
  • रामायण ही इस कलयुग में एकमात्र भक्ति मार्ग का साधन है: कुलबीर
--Advertisement--

रामायण ही इस कलयुग में एकमात्र भक्ति मार्ग का साधन है: कुलबीर

Rajnandgaon News - राजनांदगांव| वार्ड नं. 24 दीवान पारा में रविवार को एक दिवसीय मानस गान स्पर्धा का आयोजन रघुवीर रामायण समिति व...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
रामायण ही इस कलयुग में एकमात्र भक्ति मार्ग का साधन है: कुलबीर
राजनांदगांव| वार्ड नं. 24 दीवान पारा में रविवार को एक दिवसीय मानस गान स्पर्धा का आयोजन रघुवीर रामायण समिति व वार्डवासियों के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। यहां अतिथियों में जिला तुलसी मानस संस्थान के महासचिव गौरीशंकर शर्मा, संरक्षक धीरेंद्र शर्मा, संयोजक शशिकांत अवस्थी, अध्यक्ष पोषण शुक्ला, तुलसी मानस संस्थान के जिला संरक्षक व वार्ड पार्षद कुलबीर सिंह छाबड़ा, वरिष्ठ नागरिक भानुप्रताप सिंह ठाकुर, विमल गुप्ता, राजा त्रिपाठी उपस्थित रहे। आयोजन का संचालन प्रो. शोभा श्रीवास्तव जी ने की। सभी अतिथियों ने रामचरित मानस को सुनने व अपने जीवन में उतारने को कहा। क्योंकि रामायण ही इस कलयुग में एक मात्र भक्ति मार्ग का साधन है। इस प्रकार के आयोजन प्रतिवर्ष होना भविष्य की भावी पीढ़ी के लिए अतिआवश्यक है।

X
रामायण ही इस कलयुग में एकमात्र भक्ति मार्ग का साधन है: कुलबीर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..