• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Rajnandgaon
  • Rajnandgaon News chhattisgarh news asked with sparkling eyes those who destroyed many houses could not get help from them increased courage and encouragement of the soldiers answer them

छलकती आंखों से कहा जिन्होंने कई घर तबाह किए उन्हें न मिले कोई मदद, जवानों का बढ़ाया हौसला, बोलीं- मुंहतोड़ जवाब दो

Rajnandgaon News - मायूस चेहरा, छलकती आंखें, कुछ कहने से पहले कांपते होंठ.. लेकिन हौसला और हिम्मत बिलकुल वैसे ही जैसे जवानों ने 300 से...

Bhaskar News Network

Jul 13, 2019, 07:40 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news asked with sparkling eyes those who destroyed many houses could not get help from them increased courage and encouragement of the soldiers answer them
मायूस चेहरा, छलकती आंखें, कुछ कहने से पहले कांपते होंठ.. लेकिन हौसला और हिम्मत बिलकुल वैसे ही जैसे जवानों ने 300 से अधिक नक्सलियों से घिरे होने के बाद भी दिखाया था।

हिम्मत की ये तस्वीर उस प|ी, मां, बेटी और बहन के भीतर दिखी, जिनके अपने 12 जुलाई 2009 को मदनवाड़ा के कोरकोट्‌टी में नक्सलियों के हमले में शहीद हो गए। शहादत दिवस की 10 वीं बरसी पर रक्षित केंद्र में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इसमें शहीद जवानों के परिजन शामिल हुए। दस साल पुरानी घटना को याद कर सभी की आंखें झलकती रही, कई अपने परिजन के जीवनकाल के किस्सों को याद कर आंसू बहाते रहे, तो कोई अधूरे सपनों को अपने मन में संजोए अपने शहीद जवान को पुष्प अर्पित करते हैं लेकिन इन सब के बीच उनकी हिम्मत कमजोर नहीं पड़ी और मौजूद जवानों से नक्सलियों को हर मोर्चे पर मुंहतोड़ जवाब देने हौसला बढ़ाते रहे।

रक्षित केंद्र परिसर में पौधरोपण भी किया गया। शहीदों के नाम उनके परिजन व अफसरों ने पौधे लगाए। इसके अलावा जवानों ने रक्तदान कर शहादत को सलाम किया। वहीं गायिका कविता वासनिक, पुत्री हिमानी वासनिक ने श्रद्धांजलि कार्यक्रम को मार्मिक बना दिया।

शहीद एसपी की प|ी बोलीं- नक्सलवाद को खत्म करने के लिए शहीदों की प|ियां भी जंगल में जाकर जागरूक करें

राजनांदगांव. शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करती एसपी चौबे की प|ी।

कांग्रेस की कार्यक्रम से दूरी बनाना चर्चा का विषय भी बना

शहीद एसपी की प|ी बोली - हम सामने आने तैयार: शहीद एसपी वीके के चौबे की प|ी रंजना चौबे ने कहा कि नक्सली जरूर बैकफुट पर हैं लेकिन उन्हें मिलने वाली मदद पुलिस जवानों के लिए घातक साबित होती है। इसके लिए वनांचल में बसे लोगों में जनचेतना की जरूरत और इस जनचेतना के लिए शहीदों की प|ियां सामने आने को तैयार हैं। वे जंगल में आकर लोगों से नक्सलियों की मदद नहीं करने की अपील करने तैयार है। खुद की जिंदगी और तकलीफों को सामने रखकर वे ये अपील करेंगी।

शहर अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष ही दिखे: आयोजन में कांग्रेसी नेताओं की गैरमौजूदगी भी चर्चा का विषय रही। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बावजूद कांग्रेस नेता इस आयोजन से दूर रहे। केवल शहर अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा और निगम के नेता प्रतिपक्ष हफीज खान की मौजूद रहे। इधर महापौर मधुसूदन यादव, नीलू शर्मा, निगम सभापति शिव वर्मा, रेखा मेश्राम, आईजी हिमांशु गुप्ता, डीआईजी रतनलाल डांगी, प्रभारी एसपी बीएस ध्रुव, एएसपी जीएन बघेल सहित पुलिस प्रशासन के तमाम अफसर मौजूद रहे।

पुलिस प्रशासन की करते रहे प्रशंसा: श्रद्धांजलि सभा के बाद शहीदों के परिजनों से आईजी हिंमाशु गुप्ता सहित अफसरों ने चर्चा की। इस दौरान किसी ने अपनी समस्या सामने रखी, तो कोई पुलिस के कार्य से पूरी तरह संतुष्ट होने की बात कही। इसके अलावा परिजन ने आपस में मिलकर भी एक दूसरे के दर्द को बांटने का प्रयास किया। समस्याओं में ज्यादातर ने एक ही जगह लंबे समय से पोस्टिंग, घोषणा के बावजूद गृह ग्राम में शहीद की प्रतिमा नहीं लग पाने सहित अन्य परेशानी को सामने रखी।

X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news asked with sparkling eyes those who destroyed many houses could not get help from them increased courage and encouragement of the soldiers answer them
COMMENT