बैनर में लिखा 40 नक्सलियों की मौत का बदला लिया, दहशत में गांव छोड़ा

Rajnandgaon News - गढ़चिरौली में पुलिस व सुरक्षा बल के जवानों ने मई में बड़ा एनकाउंटर किया था। तीन दिन तक चली मुठभेड़ में पुलिस ने 40...

Bhaskar News Network

Jan 23, 2019, 04:32 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news revenge of 40 naxalites killed in banner left the village in panic
गढ़चिरौली में पुलिस व सुरक्षा बल के जवानों ने मई में बड़ा एनकाउंटर किया था। तीन दिन तक चली मुठभेड़ में पुलिस ने 40 नक्सलियों को मार गिराया था। इसी का बदला नक्सलियों ने तीन बेकसूर ग्रामीणों से लिया है। तीनों को मुखबिरी के संदेह में नक्सली पहले रात में गांव से उठाकर ले गए, इसके बाद इनकी निर्मम हत्या कर दी। इसके अलावा नजदीकी गांव के दो ग्रामीणों का अपहरण भी कर लिया है।

कसनासुर गांव में नक्सलियों ने ग्रामीणों की हत्या के बाद शव के पास बैनर टांगे और पर्चे भी फेंके हैं। इसी बैनर और पर्चों में मई में हुए एनकाउंटर में तीनों की ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सहयोग करने की बात लिखी है। मृतक मालु डोग्गे मंडावी, कन्ना रैनू मंडावी और लालसु कुडयेटी सामान्य ग्रामीण थे। आधी रात करीब दो दर्जन हथियारबंद नक्सलियों ने घटना को अंजाम दिया है, इमसें बड़ी संख्या में महिला नक्सली भी शामिल थीं।

नक्सलियों ने गांव में चौपाल लगाकर इन्हें ग्रामीणों के सामने उठाया। गांव में इनकी जमकर पिटाई की इसके बाद तीनों को नक्सली रात में ही अपने साथ ले गए। सुबह तीनों का शव गांव के बाहर सड़क पर मिला।

एक साथ फेंके थे तीनों शव, अपहृतों का पता नहीं

सुबह कसनासुर के मुख्य मार्ग में तीनों ग्रामीणों का सड़क एक साथ रखकर नक्सली फरार हो गए। तीनों के शरीर में धारदार हथियार से वार किया गया, गला काटा गया और फिर गोली भी मारी गई है। घटना के बाद से गांव में दहशत फैल गई। सुबह पुलिस ने तीनों शव को पीएम के लिए भेजा। मौके पर फेंके गए पर्चाें को भी जब्त किया गया। अपहृत ग्रामीणों के बारे में मंगवार की देर शाम तक सुराग नहीं लग पाया था।

थाने और रिश्तेदारों की शरण लेने पहुंचे ग्रामीण

घटना के बाद कसनासुर और आसपास के जंगल गांव के लोग गांव छोड़ रहे हैं। जानकारी मुताबिक ये ग्रामीण या तो थाने की ओर शरण लेने बढ़ते रहे या अपने रिश्तेदारों के घर दूसरे गांवों में पनाह ले रहे हैं। बड़ी संख्या में ग्रामीण अपना घर छोड़कर भाग निकले थे। ग्रामीणों में दहशत है कि नक्सली और भी लोगों को अपने हैवानियत का शिकार बना सकते हैं। ये पुलिस के लिए चुनौती बन गई है।


एसपी पूरे दिन साउथ जोन में रहे मौजूद, फोर्स अलर्ट

एसपी कमलोचन कश्यप मंगलवार को पूरे दिन मदनवाड़ा, सीतागांव, मानपुर सहित आसपास के थानों और बेसकैंपों में पहुंचते रहे। उन्होंने ऑपरेशन का जायजा लिया, इसके अलावा सीमा पार के अफसरों से भी घटना के संबंध में जानकारियां लेते हुए एक्शन प्लान अफसरों से साझा किया। नक्सलियों ने 25 जनवरी से बंद का आव्हान किया है, खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान नक्सली बड़ी हरकत कर सकते हैं।

X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news revenge of 40 naxalites killed in banner left the village in panic
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना