फिल्टर प्लांट का कंट्रोल यूनिट उड़ा, कई वार्डों में सुबह नहीं खुला नल

Rajnandgaon News - शुक्रवार की रात मोहारा फिल्टर प्लांट का कंट्रोल यूनिट उड़ गया। इसमें सुधार में निगम और बिजली कंपनी के अफसरों को आधी...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 02:51 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news the control unit of the filter plant is blown in many wards not open in the morning
शुक्रवार की रात मोहारा फिल्टर प्लांट का कंट्रोल यूनिट उड़ गया। इसमें सुधार में निगम और बिजली कंपनी के अफसरों को आधी रात बीत गई। इसके चलते शहर की कई टंकियां नहीं भर पाई।

यही नहीं सुबह कई वार्डों में नल नहीं खुले और लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ा। हालाकि टंकियों के भरते ही दोपहर बाद से देर रात तक तक पानी की सप्लाई शुरू कर दी गई थी। शुक्रवार रात करीब 11 बजे अचानक शहर की बिजली गुल हो गई, कुछ देर में बिजली तो आई लेकिन फिल्टर प्लांट का कंट्रोल यूनिट उड़ गया।

निगम के तकनीकी कर्मी इसके सुधार में जुटे रहे। कंट्रोल यूनिट के सुधरने के बाद अचानक प्लांट में लगा ट्रांसफार्मर ब्लास्ट हो गया। दोबारा बिजली कंपनी के कर्मचारियों को सुधार के लिए बुलाया गया। पूरी मरम्मत करते रात के 2.30 बज गए। इसके बाद टंकियों को भरने की प्रकिया शुरू हुई। लेकिन तय समय में ये टंकियां नहीं भर पाई और कई इलाकों में पानी की सप्लाई दोपहर तक नहीं हो सकी। जिन हिस्सों में सुबह नल नहीं खुले वहां लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ा। तकनीकी खराबी से ठप हुई सप्लाई की लोगों को कोई सूचना भी नहीं मिल पाई थी, इसकी वजह से भी लोगों को समस्या का सामना करना पड़ा। पर्याप्त पानी नहीं होने से कहीं 10 मिनट तो कहीं 15 मिनट ही नलों से पानी मिल पाया।

सुबह से पानी के लिए मशक्कत करते रहे लोग, दोपहर बाद नल खुलना शुरू हुआ तो फाेर्स कम

टांकाघर ओवरहेड से शाम में शुरू हुई सप्लाई: रात 2.30 बजे से शहर की टंकियों को भरने का काम शुरू कर दिया गया था, इसमें काफी देर हुई और नलों से पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। सबसे अधिक प्रभावित हिस्सा टांकाघर, कंचनबाग, सिविल लाइन और शंकरपुर इलाके रहे। टांकाघर ओवरहेड से शाम में ही पानी की सप्लाई शुरू हो सकी।

टैंकर से सप्लाई, लोग करते रहे इंतजार: निगम प्रशासन ने पहले नलों से सप्लाई के लिए टंकियों को भरा, इसके बाद टैंकरों में पानी भरा गया। शहर आउटर के वार्डों में टैंकरों से पानी की सप्लाई होती है। टंकियों के भरने में देर होने के चलते टैंकर से सप्लाई भी बुरी तरह प्रभावित रही। टंकियों के पूरी तरह भर जाने के बाद ही टैंकरों को भरा गया।

कुंओ, हैंडपंपों और पड़ोसियों से ली मदद: जिन हिस्सों में सुबह पानी नहीं आ पाया वहां लोगों की रुटीन बुरी तरह प्रभावित हो गई। लोग सुबह से दोपहर तक अपने इलाके के कुंओं, हैंडपंपों और पड़ोसियों के घर के बोरवेल्स से पानी की व्यवस्था करते रहे। ये स्थिति लगभग आधे शहर में बनी रही। जलघर में भी लगातार शिकायतें पहुंचती रही।

गर्मी के साथ बढ़ती है ऐसी शिकायतें, विकल्प भी नहीं: हर साल गर्मी में फिल्टर प्लांट में तकनीकी दिक्कत की स्थिति गर्मी बढ़ने के साथ बढ़ जाती है। बीते सालों में भी इस तरह की समस्या सामने आई थी, बगैर किसी सूचना के शहर में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। इसका कोई ठोस विकल्प निगम प्रशासन के पास मौजूद नहीं होने से समस्या बढ़ जाती है।

सुधार कर लिया है


X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news the control unit of the filter plant is blown in many wards not open in the morning
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना