बरतें सावधानी, कम होगा डेंगू का खतरा, उपयोग से पहले कूलर धोएं

Rajnandgaon News - डेंगू दिवस पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा गौरव पथ किनारे स्थित ऑडिटोरियम में कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें नगर...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:37 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news use caution reduce the risk of dengue wash the cooler before use
डेंगू दिवस पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा गौरव पथ किनारे स्थित ऑडिटोरियम में कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को हैल्थ कैंप लगाकर ब्लड प्रेशर तथा शुगर की जांच की गई। ओआरएस का वितरण किया गया। बीपी और शुगर के पॉजीटिव प्रकरणों पर इलाज की सलाह दी गई।

कार्यशाला में डेंगू रोग की रोकथाम और बचाव के संबंध में बताया गया। विभाग से अखिलेश सिंह ने बताया कि डेंगू का मौसम जुलाई से लेकर अक्टूबर तक का होता है। अभी से अगर बचाव के तरीके अपनाएं जाए तो डेंगू रोग पर नियंत्रण पाया जा सकेगा। डेंगू के मच्छर, साफ रुके हुए पानी में अंडे देते हैं। एक अंडे से मच्छर बनने में 6 से 7 दिन लगता हैं। डेंगू के मच्छर ज्यादातर घर के वातावरण में पैदा होते हैं। जैसे कूलर, छत पर खुली पानी की टंकियां, फटे पुराने टायर ड्यूब, टूटे फूटे मटके, बाल्टी, टिन एवं प्लास्टिक के डिब्बे, घर के सजावटी गमलों में पानी मंे, मनी प्लांट के पौट के पानी मंे, मंदिर में कलश में बहुत दिनों से रखे पानी मंे, फ्रीज के नीचे टब, जहां पानी जमा होता हैं। अतः उपरोक्त मच्छर उत्पत्ति क्षेत्रों को नष्ट कर दें।

कूलर तथा खस शीट को धूप में सुखाकर रखें

कूलर चालू करने के पहले कूलर को अच्छी तरह धो लें तथा कूलर की खस वाली शीट को अच्छी तरह धोकर धूप में सुखाना है। क्योंकि डेंगू के मच्छर अंडे कूलर के खस की शीट में चिपके रहते हैं। अतः कूलर तथा खस शीट को धोकर धूप में सुखाना अत्यंत आवश्यक है। आंगन और छतों में रखे टूटे-फूटे मटके, टायर ट्यूब, प्लास्टिक की बाटल, डिब्बों को नष्ट कर दें। आंगन और छत की खुली पानी की टंकियों को अभी से ढंक कर रखना प्रारंभ कर दें।

X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news use caution reduce the risk of dengue wash the cooler before use
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना