--Advertisement--

5 साल में टर्फ की नहीं की सफाई, मिट्‌टी जमने से पानी डालते ही फैल रहा कीचड़

Rajnandgaon News - वर्ष 2014 में शहर को अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम के साथ ही टर्फ मैदान की सौगात मिली। स्टेडियम व टर्फ के पीछे शासन ने 12...

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 03:05 AM IST
Rajnandgaon News - cleaning of the turf not in 5 years
वर्ष 2014 में शहर को अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम के साथ ही टर्फ मैदान की सौगात मिली। स्टेडियम व टर्फ के पीछे शासन ने 12 करोड़ से ज्यादा राशि खर्च की। हॉकी की नर्सरी के खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए लगाए गए इस टर्फ की 5 साल में एक बार भी सफाई नहीं हुई है। टर्फ के रखरखाव के लिए टेक्निकल जानकारी नहीं होने का ही नतीजा है कि करोड़ों के इस टर्फ में चारों ओर मिट्‌टी जम गई है और जैसे ही गीला करने के लिए पानी का छिड़काव किया जाता है, वैसे ही पूरे टर्फ में कीचड़ होने से खिलाड़ी फिसलकर गिर रहे हैं।

खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सहायक संचालक एलबियुस एक्का का कहना है कि वर्तमान में स्टेडियम में इंटरनेशनल स्तर के मैच नहीं हो पाएंगे। टर्फ की हालत देखकर अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (आईएफएच) की ओर से मान्यता नहीं दी जाएगी। सहायक संचालक ने बताया कि टर्फ की खस्ताहाल स्थिति से संचालनालय को अवगत करा दिया गया है। स्टेडियम में कराए गए बोर का पानी टर्फ में डाला जाता है। इस पानी को फिल्टर नहीं करते और सीधे टर्फ में डाल देते हैं। पानी के साथ मिट्‌टी भी टर्फ में चली जाती है। राइस मिल का डस्ट भी स्टेडियम में आता है।


राजनांदगांव. टर्फ में मिट्‌टी जमने की वजह से ऐसे फिसल रहे खिलाड़ी।

उखड़ रहा है टर्फ, अफसरों नहीं है तकनीकी जानकारी

मिट्‌टी जमने के साथ ही टर्फ कुछ जगहों पर उखड़ भी गया है, जहां पर पानी का स्टोरेज हो जाता है। अफसरों को इसके सुधार के संबंध में तकनीकी जानकारी नहीं है। अफसरों को तो यह भी पता नहीं है कि टर्फ में एक मैच के दौरान कितना लीटर पानी का छिड़काव करना है। अंदाज से ही मैच शुरू होने के पहले और मध्यांतर के दौरान पानी का छिड़काव कर देते हैं। लेकिन लगातार मेंटेनेंस में लापरवाही किए जाने के कारण मैदान की दुर्दशा हो गई है।

खिलाड़ियों ने कहा-चोटिल होने का खतरा बना हुआ

कृत्रिम घास के इस मैदान में शुक्रवार से हुनर कप हॉकी स्पर्धा की शुरुआत हुई। इस टर्फ में पहले खेल चुके खिलाड़ियों ने बताया कि मिट्‌टी जमी होने की वजह से अब टर्फ में दौड़ लगाने पर फिसलकर गिरने का डर बना हुआ है। मैच के दौरान दो खिलाड़ी गिरे भी पर मामूली चोट आई। खिलाड़ियों ने बताया कि मिट्‌टी के कारण टर्फ में कीचड़ हो रहा है। ऐसी स्थिति में बॉल को सही दिशा में ले जाने में भी दिक्कत हो रही है। यही नहीं इससे प्रदर्शन पर भी असर पड़ेगा।


टर्फ में इस तरह मिट्‌टी जम चुकी है, इससे खिलाड़ी परेशान हो रहे हैं।

22 से ज्यादा टीमें आएंगी जल्द करानी होगी सफाई

27 दिसंबर से इसी स्टेडियम में अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा होनी है। इसके लिए देशभर की 22 से ज्यादा टीमों ने स्पर्धा में भाग लेने की सूचना दी है। अफसरों का कहना है कि टर्फ की सफाई के लिए संचालनालय स्तर पर टेंडर होना है। राजधानी स्तर के अफसरों ने आचार संहिता का हवाला देकर टेंडर के लिए 12 दिसंबर तक इंतजार करने कहा है। इसके बाद ही किसी कंपनी को सफाई का ठेका मिलेगा। कंपनी मशीन के माध्यम से टर्फ की सफाई करेगी।


सफाई के लिए टेंडर जल्द

अफसरों ने टेंडर कर जल्द ही टर्फ की सफाई कराने की बात कही है। टर्फ के संबंध में जानकारी रखने वाले कोच की भी मांग करेंगे ताकि वे खिलाड़ियों को दिशा-निदेश देते रहे। एलबियुस एक्का, सहायक संचालक खेल एवं युवा कल्याण विभाग

टर्फ की सफाई जरूरी

टर्फ की सफाई बहुत जरूरी है। टर्फ की नियमित रुप से देखरेख होगी तो ऐसी स्थिति नहीं रहेगी। अफसरों ने सफाई के लिए किसी कंपनी को टेंडर देने की जानकारी दी है। फिरोज अंसारी, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ हॉकी

Rajnandgaon News - cleaning of the turf not in 5 years
X
Rajnandgaon News - cleaning of the turf not in 5 years
Rajnandgaon News - cleaning of the turf not in 5 years
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..