पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्पर्धा को आकर्षक करने मांगा आर्थिक सहयोग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
महंत राजा सर्वेश्वर दास स्मृति और रानी सूर्यमुखी देवी अखिल भारतीय हॉकी स्पर्धा के आयोजन को बेहतर करने इस बार समाजसेवियों व हॉकी प्रेमियों से आर्थिक सहयोग मांगा जा रहा है। यह अपील गुरुवार की बैठक में कलेक्टर भीम सिंह ने की। इसके बाद से स्वयं अफसरों ने सहयोग के लिए हाथ आगे बढ़ा दिया। शुरुआत एएसपी राजेश अग्रवाल ने की तो कलेक्टर भीम सिंह, एसपी कमलोचन कश्यप, भाजपा नेता लीलाराम भोजवानी, खूबचंद पारख और नरेश डाकलिया भी कहां पीछे रहते। सभी ने राशि देने की घोषणा बैठक में ही कर दी। इस बार यह स्पर्धा 27 दिसंबर से 6 जनवरी तक खेली जाएगी। इस बार प्रॉपर राजनांदगांव से महिला हॉकी टीम के खेलने की भी बात की गई। पिछली बार महिलाओं की एक पूरी टीम छत्तीसगढ़ से खेली थी।

स्पर्धा को आकर्षक बनाने कलेक्टर ने कहा कि शासन की ओर से तथा राजगामी संपदा न्यास की ओर से एवं खेल प्रेमी सेवाभावियों की ओर से इस स्पर्धा के लिए मदद दी जाती है। महिला हॉकी को बढ़ावा देने के लिए रानी सूर्यमुखी महिला हॉकी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जा रहा है। प्रतियोगिताओं का आकर्षण और बढ़ाने के लिए यह आवश्यक है कि हॉकी की नर्सरी से जुड़े लोग, सेवाभावी लोग, राजनांदगांव में खेल से जुड़े लोग आर्थिक रूप से मदद करें।

स्पर्धा के मैच फ्लड लाइट में कराने जाने की मांग
बैठक में पूर्व पार्षद राधेश्याम गुप्ता ने फ्लड लाइट में मैच कराने की मांग रखी। उनका कहना था कि फ्लड लाइट के आरंभ होने से क्रिकेट की लोकप्रियता में काफी वृद्धि हुई है। लोगों के पास दिन में समय नहीं होता। कलेक्टर सिंह ने बताया कि इस संबंध में शासन को प्रस्ताव भेजा गया है।

स्टेडियम समिति को पुन: गठित करने की मांग
दिग्विजय स्टेडियम समिति को पुन: गठित करने की मांग रखी गई। 2011 में दिग्विजय स्टेडियम समिति भंग कर दी गई थी। समिति ने परिसर की दुकानों के आवंटन में फर्जीवाड़ा किया गया था। पदाधिकारियों ने अपने परिवार के सदस्यों में ही दुकानों को बांट दिया था। रजिस्ट्रार फर्म्स एंड सोसाइटी ने कमेटी भंग की थी। अब इसे पुनर्जीवित करने की मांग उठी है।

35 टीमों को भेजा पत्र, 10 ने अब तक दी सहमति
पुरुष हॉकी के संबंध में डिप्टी कलेक्टर जीआर मरकाम ने बताया कि इसके लिए 35 टीमों को पत्र भेजा है। इसमें अब तक 10 टीमों ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। इनके लिए आवास एवं परिवहन की व्यवस्था कर दी गई है। पिछली बार 18 टीमों ने हिस्सा लिया था। इस बार 23 से अधिक टीमें आएंगी।

खबरें और भी हैं...