• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sakti News
  • डॉक्टर- माफ करना! हम उसे बचा नहीं सके, अब वह नहीं रहा। इंजीनियर- एक बार री-स्टार्ट कर के देख लेते।
--Advertisement--

डॉक्टर- माफ करना! हम उसे बचा नहीं सके, अब वह नहीं रहा। इंजीनियर- एक बार री-स्टार्ट कर के देख लेते।

सक्ती अकलतरा बाराद्वार बलौदा डभरा मालखरौदा ...

Danik Bhaskar | Feb 25, 2018, 02:50 AM IST
सक्ती

डॉक्टर- माफ करना! हम उसे बचा नहीं सके, अब वह नहीं रहा। इंजीनियर- एक बार री-स्टार्ट कर के देख लेते।