• Home
  • Chhattisgarh News
  • Sakti News
  • बलवा करने के आरोपियों को एक एक वर्ष कारावास एवं जुर्माने की सजा
--Advertisement--

बलवा करने के आरोपियों को एक एक वर्ष कारावास एवं जुर्माने की सजा

सक्ती | बलवा के आरोपियों को पूर्व में सुनाई गई एक- एक वर्ष का कारावास और अर्थदंड की सजा को द्वितीय अपर सत्र...

Danik Bhaskar | Feb 02, 2018, 02:55 AM IST
सक्ती | बलवा के आरोपियों को पूर्व में सुनाई गई एक- एक वर्ष का कारावास और अर्थदंड की सजा को द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश ने यथावत रखा है। आरोपियों को सजा पूर्व में न्यायिक दंडाधिकारी मालखरौदा द्वारा सुनाई गई थी,जिसके खिलाफ उन्होंने द्वितीय अपर सत्र न्यायालय में याचिका दायर की थी।

घटना दिनांक 8 दिसंबर 2008 को खोलबहरा खार सिंघरा से जीवन लाल चन्द्रा सहित उसके परिवार के लोग कटे धान के फसल को बांधकर घर ला रहे थे उसी समय आरोपी लक्ष्मी चन्द्रा, घुरवाराम, भुरवाराम, फिरतू, समेलाल, श्वेताम्बर, नन्दन, गंगाराम, लखन, संतोषीबाई, सरहीबाई, धनेश्वरीबाई ने मिलकर जीवनलाल चन्द्रा, लखन, किरण, जमुना, लोचनबाई, मोहन के साथ मारपीट की थी। जीवनलाल को गम्भीर चोटें आईं थी। आरोपी उसे मरा समझकर छोड़ दिए थे। थाना मालखरौदा में सभी के खिलाफ जुर्म दर्ज किया गया। न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी मालखरौदा द्वारा आठ आरोपियों को एक एक वर्ष का कारावास एवं अर्थदंड की सजा दी गई थी। जिसके विरुद्ध द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश वंदना दीपक देवांगन के न्यायालय में अपील पेश किया था। सुनवाई के बाद जज वंदना दीपक देवांगन ने अपील को निरस्त कर निर्णय की पुष्टि की। मामले में अपर लोक अभियोजक उदय कुमार वर्मा ने मामले की पैरवी की।